विधानसभा का विशेष सत्र,दिवंगत नेताओं को श्रद्धांजलि देने के बाद सदन स्थगित,अनुपूरक बजट बुधवार को

Reported By: Sanjeet Tripathi, Edited By: Sanjeet Tripathi

Published on 11 Sep 2018 12:23 PM, Updated On 11 Sep 2018 12:23 PM

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा के विशेष सत्र के पहले दिन आज मंगलवार को सदन में दिवंगत नेताओं को श्रद्धांजलि दी गई। विधान सभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल ने दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी, दिवंगत राज्यपाल बलरामजी दास टण्डन और दिवंगत पूर्व मंत्री डॉ रामचंद्र सिंहदेव के निधन की जानकारी सदन को देते हुए उनका जीवन परिचय दिया। दिवंगत नेताओं को श्रद्धांजली देने के बाद सदन की कार्यवाही बुधवार 12 सितंबर तक के लिए स्थगित हो गई

विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर ने सदन में कहा कि अटलजी का छत्तीसगढ़ के प्रति विशेष प्रेम था। उन्होंने ही उन्होंने छत्तीसगढ़ को राज्य का दर्जा दिलाया, वे लम्बे समय तक सांसद रहे। वहीं मुख्यमंत्री ने पूर्व प्रधानमंत्री सहित अटल सहित सभी दिवंगत नेताओ को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा कि अटलजी हम सबके गुरु और पितातुल्य थेउनकी लोकप्रियता का मुकाबला करे ऐसा कोई नेता नहीं है

यह भी पढ़ें : बसपा नेता के बोल, एसडीएम के लिए कहा- कितनी चप्पलें पड़ेंगी समझ सकते हो, देखिए वीडियो

मुख्यमंत्री ने कहा कि अटलजी ने अपना वादा पूरा कर छत्तीसगढ़ राज्य बनायाछत्तीसगढ़ को कई  सौगातें दीसर्वशिक्षा अभियान की शुरुआत भी उन्होंने की थी। उनकी स्मृति में हमने छत्तीसगढ़ सशत्र बल का नाम पोखरण सशत्र बल किया हैया रायपुर, एक्सप्रेस वे, बिलासपुर विवि का नाम अटलजी के नाम पर करने का निर्णय लिया है। वही डॉ सिंह ने कहा कि स्वर्गीय रामचंद्र सिंहदेव राजा होते हुए भी फकीर की तरह जिएवे अच्छे गोटोग्राफर भी थे

कार्यवाही के दौरान नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने भी दिवंगत राज्यपाल, पूर्व प्रधानमंत्री, पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी और पूर्व मंत्री रामचंद्र सिंहदेव को श्रद्धाजंलि दी। उन्होंने कहा कि विपक्ष का कोई प्रधानमंत्री हो तो अटलजी जैसा होविपक्ष में रहते हुए अटलजी ने आदर्श विपक्ष की भूमिका निभाई थी। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि राजनेताओं को अटलजी से सीखना चाहिए। उन्होंने कहा कि अटलजी ने मुझे भी प्रभावित किया है

वहीं महासमुंद से निर्दलीय विधायक एक बार फिर विवादित कुर्ता पहन कर विधानसभा पहुंचे हैं। उन्होंने जो कुर्ता पहना है, उस पर पूर्ण शराब बंदी, धान पर 300 रुपए बोनस 5 साल देने और हाथी प्रभावितों को 25 हजार रुपए क्षतिपूर्ति देने की मांग लिखी है

यह भी पढ़ें : घायल महिला की इलाज के दौरान मौत, परिजनों का हंगामा, अस्पताल में तोड़फोड़

जबकि कांग्रेस सदस्यों ने डेंगू हो रही मौत को देखते हुए इसका भी उल्लेख करने की मांग कीअरुण वोरा ने मुख्यमंत्री से दूर भिलाई का जायजा लेने की मांग की। बता दें कि आज से दो दिनों का विधानसभा का विशेष सत्र शुरू हुआ है। सदन में श्रद्धांजलि के बाद आज सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी जाएगी। बुधवार को सदन में 2400 करोड़ का अनुपूरक बजट पेश कर पारित कराया जायेगा।

 

वेब डेस्क, IBC24

Web Title : Chhattisgarh Assembly :

ibc-24