News

सहज योग कैसे करें,जानिएं उसके फायदे

Created at - September 26, 2018, 6:14 pm
Modified at - September 26, 2018, 6:40 pm

सहज योगा को धार्मिक योगा की श्रेणी मे रखा गया है।कहा जाता है कि आसान मुद्रा में बैठकर ध्यान करना सहज योगा कहलाता है। इस योग के दौरान ठंडी हवा का एहसास होता है।आत्म बोध का प्रचार है जिससे कुंडलिनी होती है। सहज योगा हाल ही में खोजा गया एक धार्मिक योगा है। इसकी खोज निर्मला श्रीवास्तव ने की जो ‘श्री माता जी निर्मला देवी’ के नाम से भी जानी जाती हैं। उनके अनुयाईयों ने प्यार से (जिन्हें सहज योगी कहते हैं) उन्हें ‘माता’ का नाम दिया है। सहज योगा में कुंडलिनी जागरण व निर्विचार समाधि, मानसिक शांति से लोगों को आत्मबोध होता है और अपने आप को जानने में मदद मिलती है।

क्या है सहज योगा

सहज योगा में आसान मुद्रा में बैठकर ध्यान किया जाता है। ध्यान के दौरान इसका अभ्यास करने वाले लोगों में सिर से लेकर हाथों तक में एक ठंडी हवा का एहसास होता है । चिकित्सकों ने सहज योगा के अन्य प्रभावों के बारे में भी बताया है। इस योग को करने से लोगों में शारीरिक व मानसिक तनाव से मुक्ति व आराम मिलता है। सहज योगा केवल एक क्रिया का नाम नहीं हैं, यह वह तकनीक भी है जिससे लोगों को इसके बारे में जागरुक कराया गया है। यह मुख्य रुप से आत्म बोध का प्रचार है जिससे कुंडलिनी जागृत होती है जिससे व्यक्ति के व्यक्तित्व में निखार आता है।

सहज शब्द की उत्पति

सहज शब्द संस्कृत के दो शब्दों को जोड़ कर बना है। ‘सह’ का अर्थ है ‘साथ’ और ‘जा’ का अर्थ है ‘जन्म’। जब यह दोनों शब्द एक साथ जुड जाते हैं तो इसका अर्थ है प्राकृत के करीब होना। सहज योगा के अनुयाईयों का विश्वास है कि उनके अंदर कुंडलिनी का जन्म होता है और वे उन्हें स्वत: जागृत कर सकते हैं।

जानें सहज योगा से होने वाले फायदे 

सामान्य स्वास्थ्य के लिए

सहज योगा से शारीरिक, मानसिक व भावनात्मक रुप से मजबूती मिलती है। साथ ही शरीर में होने वाली बीमारियों को जड़ को खत्म किया जा सकता है।

तनाव से मुक्ति

सहज योगा से दिमाग को तनाव झेलने की शक्ति मिलती है। साथ ही आपके सोने के तरीके को भी सुधारता है। इस योगा से व्यक्ति को आसपास के तनाव, दिनभर की थकान व अपने गुस्से को नियंत्रित करने में आसानी होती है।

बुरी आदतों से छुटकारा 

किसी भी तरह की बुरी आदत व लत से जैसे धूम्रपान, मंदिरा सेवन आदि को छोड़ने के लिए इसका अभ्यास किया जा सकता है।

संचार कौशल

सहज योगा के नियमित अभ्यास से आप लोगों से अच्छी तरह से पेश आते हैं। साथ ही दूसरों के साथ बेहतर रिश्ते जोड़ने में मदद मिलती है।

एकाग्रता

सहज योगा से लोगों में एकाग्रता बढ़ती है और जो वे जीवन में हासिल करना चाहते है आसानी से कर सकते हैं।

वेब डेस्क IBC24

 

 


Download IBC24 Mobile Apps