News

पहली योगा क्लास में ध्यान देने वाली बातें

Created at - September 29, 2018, 3:44 pm
Modified at - September 29, 2018, 3:44 pm

योग शारीरिक और मानसिक चिकित्सा की तरह होता है। योग के दौरान किए गए हर एक छोटे आसान का अपना अलग ही महत्व है। ऐसा नहीं है कि आपको रोज के कुछ घंटे योग करना ही है। जी हां, आप एक हफ्ते में चार दिन भी अगर योग करते हैं, तो वह आपके शरीर को स्वस्थ रखने के लिए काफी है। जब आप शुरुआत में योग करना शुरू करते हैं, तो बहुत-सी बातों से अंजान होने के कारण गलतियां करते रहते हैं। वैसे तो कहते हैं कि शुरुआत में एक्सपर्ट के सामने ही योग करना चाहिए ताकि प्रारंभिक दौर में ही गलतियों को सुधारकर बेहतर नतीजे पर पहुंचा जा सके। आइए जानते हैं  शुरुआती दौर में किन बातों का ध्यान रखना चाहिए। 

ढीली न हो ड्रेस

योगासन सही तरीके से करने के लिए आपका कम्फर्टेबल होना जरूरी है। दिमाग, मन और शरीर तीनों चीजों को रिलेक्स रखें। इसके लिए योग के दौरान पहने जाने वाले पैंट और टी-शर्ट आपकी फिटिंग के ही होने चाहिए। पैंट मुलायम और खींचने वाली होने चाहिए ताकि योगासन में आपको किसी तरह की कोई दिक्कत न हो। इसके साथ ही टी-शर्ट भी ज़्यादा फिटिंग की नहीं होनी चाहिए, लेकिन ज़्यादा ढीली भी नहीं होनी चाहिए। योग हमेशा बिना चप्पल और जूते पहने ही किया जाता है। गहरे गले और कॉलर वाले टॉप पहनने से परहेज करें क्योंकि साइड मुद्रा के दौरान वह आपको परेशान कर सकते हैं। योग के दौरान हल्के फैब्रिक से बने कपड़े ही पहनें। ऐसे में लाइक्रा और नाइलॉन कपड़े न पहनें क्योंकि आसन के समय इन कपड़ों में फिसलने का डर रहता है।

खुद चुनें अपना आसन

खुद ध्यान दें कि आपके लिए योग का कौन-सा आसन बेस्ट है। योग में हर व्यक्ति के लिए कोई न कोई आसन है। अपने लचीलेपन, सहनशक्ति और संतुलन को ध्यान में रखते हुए शुरुआत में वही आसन चुनें। चिंता खत्म होना, दिमाग को शांत करना और शरीर को आराम देना जैसे फायदे योग के बाद ही दिखते हैं। अपने स्वास्थ्य और उद्देश्य को देखते हुए आसन का चयन करें। कमजोरियों और ताकत के बारे में एक्सपर्ट को बताते हुए सही आसन की जानकारी लें।

धीरे-धीरे करें शुरुआत

आसन के पोज़ को शुरुआत में धीरे-धीरे करें क्योंकि आप कोई एक्‍सपर्ट नहीं हैं, जो एक बार में सही से कर लें। योग के लिए लचीली बॉडी की आवश्यकता नहीं है। यह पोज़ लचीलापन बढ़ाने और आपकी ताकत बढ़ाने में मदद करेंगे। शुरुआत में योग के बाद बॉडी को थोड़ा दर्द होगा लेकिन अभ्यास करते रहने से यह दर्द खत्म हो जाएगा और बॉडी रूटीन में आ जाएगी।

सांस लेने का तरीका रखें ध्यान

सांस लेना, सांस छोड़ना और सही से सांस लेना। सही से सांस लेना व्यायाम का ही रूप है। आप आसन का अभ्यास तब तक नहीं कर सकते, जब तक आप मुंह से सांस लेते रहेंगे। लिहाजा, योगासन के दौरान नाक से ही सांस लेना और छोड़ना जरूरी है। योग के दौरान मैंने सबसे पहली चीज़ यही सीखी कि व्यायाम के समय सही से सांस लेने का क्या तरीका है। यही नहीं, सांस लेने और छोड़ने की प्रकिया में संतुलन बनाना भी जरूरी है। आप सांस को जितना लंबा और देर तक ले सकते हैं करें, लेकिन ध्यान रहे कि दबाव डालकर सांस रोकने और खींचने की कोशिश न करें। आपको सांस को लेकर सतर्क होना पड़ेगा। यह सुनने में जितना आसान लगता है, करने में उतना ही मुश्किल होता है।

संतुलन का है खेल

आप सोच रहे होंगे कि आसन को बना लेना ही काफी है, लेकिन ऐसा नहीं है। जी हां, आसन को बनाने के साथ-साथ उन्हें कुछ समय रोक कर भी रखना चाहिए। संतुलन की ओर ध्यान लगाएं, लेकिन ताकत के साथ नहीं। दिमाग संतुलन बनाने में होना चाहिए न कि पोज़ सही बनाने में।

आसन के बाद के पोज़

आसन के बाद की सबसे जरूरी चीज, जो हर नौसिखिए को पता होनी चाहिए कि आसन के बाद कैसे रिलेक्स किया जाए। यह भी व्यायाम की ही एक शैली है। इस शवासन के दौरान आप पीठ के बल लेट जाएंगे और सांस पर ध्यान केंद्रित करें। यह शरीर को आराम देने की तकनीक है।

आधे घंटे पहले खाएं खाना

योग में मोड़ना, पलटना और उलटना शामिल है। अगर इस दौरान आपका खाना पचा नहीं होगा तो योग की प्रक्रिया के दौरान आप असहज महसूस करेंगे। इस समय कुछ हल्का खाएं, जैसे नट्स, जूस, फल और दही। प्रोटीन और कार्ब का मिश्रण आपको एनर्जी देगा। योग शुरू करने से पहले ज़्यादा पानी न पीएं। अभ्यास के दौरान पेट बिल्कुल खाली होना चाहिए।

अभ्यास में अंतर का समय

योग का मतलब यह नहीं है कि खुद को जबरदस्ती घसीटते हुए करते ही जाएं। मेरे हिसाब से एक हफ्ते में चार दिन किया योग भी आपके लिए काफी होता है। खुद को एक्सपर्ट न समझें। अपना संतुलन बनाएं। जितना आपका शरीर कर सकता है, उतना ही करें। समय को लेकर इसमें कोई निय़म नहीं है, लेकिन आपकी मुद्रा के अनुसार आप यह निर्णय ले सकते हैं। जैसे कुछ लोग ताज़गी के लिए योग करते हैं, तो कुछ दिमाग को शांत करने के लिए। सुबह के समय किया योग काफी स्फूर्तिदायक होता है और आपको पूरा दिन ताज़गी देता है। आप शुरुआत शाम में भी कर सकते हैं लेकिन उस समय आराम वाले आसन की ओर ज़्यादा ध्यान दें।

 

वेब डेस्क IBC24

 


Download IBC24 Mobile Apps