News

तनुश्री और नाना विवाद पर सामने आई कंगना, राजा बेटाओं को नहीं का मतलब बताना जरुरी

Created at - September 29, 2018, 4:33 pm
Modified at - September 29, 2018, 4:33 pm

मुंबई। तनुश्री दत्ता ने जब से नाना पाटेकर पर शोषण का आरोप लगाया है बॉलीवुड की कई अभिनेत्रियां उनके सपोर्ट में आई है।इसी के चलते आज एक्ट्रेस कंगना रनौत ने भी बिना कि‍सी का नाम लिए कहा है कि राजा बेटाओं को 'नहीं' का मतलब बताना जरूरी है.ज्ञात हो कि तनुश्री दत्ता ने  एक्टर नाना पाटेकर यौन शोषण का आरोप लगाया है। जिससे पूरी इंडस्ट्री के लोग सकते में है। बता दें कि  तनुश्री ने नाना पाटेकर पर उनके साथ इंटीमेट सीन करने और जबरदस्ती करने का आरोप लगाया है. तनुश्री ने ये भी कहा है कि शूटिंग सेट्स पर महि‍लाओं के प्रति नाना पाटेकर का रवैया ठीक नहीं है और इंडस्ट्री के लोग ये बात जानते हैं.

तनु के इस आरोप के बाद नाना पाटेकर एक ओर जहां शूटिंग से गायब हैं वहीं कई  बॉलीवुड एक्ट्रेस उनके सपोर्ट में उतरी हैं. प्रियंका चोपड़ा और सोनम कपूर के बाद अब इस मामले पर एक्ट्रेस कंगना रनौत ने भी  कहा है कि  'मैं यहां इस मामले पर कोई फैसला सुनाने के लिए नहीं हूं. मैं तनुश्री की सराहना करती हूं कि उन्होंने अपने साथ हुई इस घटना के खि‍लाफ आवाज उठाई है. इस बारे में बात करना और अपना-आपना एक्सपीरियंस शेयर करना उनका और आरोपी को मौलिक अधिकार है. इस तरह के मुद्दों पर बात करना समाज के हित के लिए बहुत अच्छा है ताकि जागरुकता फैले. लेकिन दुर्भाग्यवश भारत के ज्यादातर पुरुषों को जिस तरह से उनकी मांए पालती हैं, उन्हें इतनी भी तहजीब नहीं होती कि पेशाब करने से पहले पॉट के ढ़क्कन को उठाया जाता है.

इस तीखे बयान के बाद कंगना ने कहा, 'राजा बेटा को नो  का मतलब बताया जाना बेहद जरूरी है. अब समाज को राजा बेटाओं को वो सि‍खाने और बताने की जरूरत है जि‍से बताने में उनके माता-पिता असफल रहे हैं. उन्हें ये समझाना जरूरी है कि मौलिक अधि‍कार पुरुषों और महिलाओं दोनों के लिए सामान हैं. 

 

 

वेब डेस्क IBC24

 


Download IBC24 Mobile Apps