शिवपुरी News

सांसद नंदकुमार सिंह चौहान की गुंडागर्दी,परिचय पत्र मांगने पर टोल नाके के कर्मचारी को जमकर पीटा

Created at - October 6, 2018, 9:51 am
Modified at - October 6, 2018, 10:46 am

शिवपुरी। मध्यप्रदेश के शिवपुरी इलाके से आई एक CCTV तस्वीर आई है। जिसमें सांसद और पूर्व भाजपा अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान टोलनाके के एक कर्मचारी को जमकर पीटते नजर आ रहे हैं। टोलनाके के कर्मचारी का कसूर सिर्फ ये था कि उसने टोलनाके से गुजर रहे सांसद से परिचय पत्र मांग लिया था। इसके बाद आगे जो कुछ भी हुआ, वो टोलनाके के CCTV कैमरे में कई एंगल से कैद है। 

पढ़ें- भारत-रूस के बीच S-400 डिफेंस सिस्टम को लेकर करार,जानिए S-400 भारतीय सेना के लिए कितना खास है

CCTV की ये वो तस्वीरें हैं, जिन्होंने मध्यप्रदेश की राजनीति में बवाल मचा दिया है। आज से पहले आपने कई बार ऐसी तस्वीरें देखी होंगी, जिसमें टोल नाके पर पर्ची मांगे जाने या फिर आईड़ेंटिटी कॉर्ड दिखाने के नाम पर गाड़ी रोकी जाती है, तो लोगों का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच जाता है... और अक्सर ऐसी ही मारपीट हो जाती है। लेकिन मध्यप्रदेश के शिवपुरी इलाके से आई ये तस्वीर जरा ठीक से देखिए। एक हाथ में इस टोलनाके के गरीब कर्मचारी का कॉलर पकड़े ये जनाब हैं कौन..? जी हां, बिलकुल सही पहचाना आपने। ये मध्यप्रदेश भाजपा के पूर्व अध्यक्ष और दबंग सांसद नंदकुमार चौहान हैं। नहीं-नहीं, बात सिर्फ कॉलर पकड़ने तक ही नहीं है। अब जरा आगे भी ये देख लीजिए कि कैसे हाथ जोड़े इस शख्स पर पहले वो तमाचे जड़ते हैं और फिर खींचते-घसीटते उसे बाहर से भीतर टोल नाके के दफ्तर तक ले जाते हैं। ये सारा कुछ हो रहा है कोलारस के पूरनखेड़ी टोलनाके पर।

पढ़ें- शिक्षाकर्मियों का संविलियन : राजपत्र में प्रकाशन की तैयारी पूरी, जानिए खास बातें

जहां से गुजरते वक्त टोल नाके के इस कर्मचारी ने सांसद महोदय से उनका परिचय पूछकर आईडी कार्ड मांग लिया। फिर क्या था, नेताजी को गुस्सा आ गया... और फिर जब नेताजी गुस्साए तो उनके चमचे और सुरक्षा में तैनात इन जवानों को भी तमतमाना ही था। सब एक साथ मिलकर कर्मचारी पर टूट पड़े। कोई पीछे से लात मार रहा था, तो कोई धक्का दे रहा था। कोई अपनी ओर घसीट रहा था, तो कोई भीड़ में एक हाथ अपना भी जमा लेना चाहता था। लेकिन हद तब हो गई, जब खुद को जनता का नुमाइंदा बताने वाले सांसद नंदकुमार चौहान खुद आगे बढ़े और इस शख्स कॉलर अपने हाथ में दबोच लिया। इस पूरे घटनाक्रम के दौरान बेचारा टोलनाके का कर्मचारी गिड़गिड़ाता रहा। मार खाते वक्त भी उसके दोनों हाथ जुड़े ही रहे और वो माफी मांगता रहा। लेकिन बेरहम, बेगैरत सियासत उसे और उसके आत्मसम्मान को लात-घूंसे से रौंदती रही। गरीब कर्मचारी ने नेताजी के पैर भी छुए, मगर सांसद तो पिघलने के मूड में ही नहीं थे। वो तो मामला तब सुलझा, जब मीडिया के कुछ लोग वहां पहुंच गए। सत्ता के नशे में चूर सांसद के इस घटियापन से मध्यप्रदेश की राजनीति एक बार फिर शर्मिंदा हुई है, मगर इसके साथ ही आरोपों और सफाई की सियासत भी शुरू हो गई है। 

पढ़ें- मप्र, छग समेत पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव, जानिए किस दिन होगा तारीखों का ऐलान

तो देख लिया आपने कि तस्वीरें ही पूरी घटना बयान कर रही हैं कि टोलनाके पर आखिर हुआ क्या..? इस CCTV तस्वीर के सामने आने के बाद मध्यप्रदेश की सियासत भी गर्म हो गई है। कांग्रेस को बैठे बिठाए मुद्दा मिल गया है और वो कह रही है कि सिर्फ दस रुपए के लिए एक भाजपा सांसद ऐसा भी कर सकता है..? वहीं बीजेपी अपने नेता के बचाव में उतर गई है। उसका कहना है कि नंदकुमार सिंह चौहान पार्टी के वरिष्ठ नेता हैं और वो ऐसा कर ही नहीं सकते। वहीं नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने भी ट्वीट करके निशाना साधा है। अजय सिंह ने नंद कुमार सिंह पर तुरंत FIR दर्ज करने की मांग की है। अब जब जनता के सेवक कहलाने वाले नेता खुद ही कानून हाथ में लेकर खुलेआम गुंडागर्दी कर रहे हैं और उनकी पार्टी के लोग बचाव में उतर गए हैं, तो फिर समझा जा सकता है कि मध्यप्रदेश में सियासत कैसे हो रही है। 

 

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News