IBC-24

भूकंप में चारधाम यात्रा में कोई रुकावट नहीं

Reported By: Pushpraj Sisodiya, Edited By: Pushpraj Sisodiya

Published on 24 May 2015 02:02 PM, Updated On 24 May 2015 02:02 PM

देहरादून। उच्च तीव्रता के भूकंप और उसके बाद आ रहे झटकों से हुई दहशत के बीच उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने रविवार को कहा कि भूकंप के कारण चारधाम यात्रा में कोई रुकावट नहीं आई हैं और चारों धामों के यात्रा मार्ग खुले हुए हैं। रावत ने रविवार को सुबह बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने के मौके पर विशेष पूजा अर्चना के बाद संवाददाताओं से कहा कि चारधाम यात्रा में कोई रुकावट नहीं आई है और यात्रा सूचारु रूप से चल रही है। उन्होंने कहा कि चारों धामों के यात्रा मार्ग खुले हुए है। रावत ने कहा कि चारधाम यात्रा से लोगों की आस्थाएं जुड़ी हुई हैं और श्रद्घालुओं के लिए इसे और बेहतर तथा सुगम बनाने हेतु विचार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि चारधाम यात्रा हमारे पास मानवता की धरोहर है और इससे लोगों की आस्थाएं जुड़ी हुई है। चारधाम यात्रा को श्रद्घालुओं के लिए और अधिक बेहतर तथा सुगम कैसे बनाया जाए, इस पर और विचार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हमने अपनी ओर से व्यवस्थाओं को दुरस्त करने का पूरा प्रयास किया है। पांडुकेश्वर से बद्रीनाथ तक रास्ता थोडा चुनौतीपूर्ण है, वहां बर्फ को काटकर रास्ता बनाया गया है, परन्तु मैं लोगो को पूर्ण विश्वास दिलाना चाहता हूं कि रास्तों के कारण यात्रा बाधित नहीं होगी। यात्रा सुरक्षित होगी और मैंने अपने उच्चतम अधिकारियों को इस कार्य में लगा रखा है। भगवान की हम पर असीम कृपा है। इससे पहले, सुबह 5:15 पर बदरीनाथ धाम के कपाट खोले जाने के मौके पर हजारों श्रद्धालुओं के साथ मुख्यमंत्री रावत ने भी भगवान विष्णु की पूजा अर्चना की तथा पूरे जोश व उत्साह से भगवान बद्रीविशाल के जयकारे भी लगाए। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने बामणी गांव की स्थानीय महिलाओं के दल के साथ नृत्य भी किया। रावत ने देश-विदेश से आए अनेक श्रद्धालुओं से भी मुलाकात की तथा उनसे यात्रा के बारे में जानकारी लेते हुए यात्रा की सुगमता हेतु उनके विचार भी जाने। (भाषा)
ibc-24