News

मूवी रिव्यूः बाजीराव मस्तानी

Created at - December 22, 2015, 3:37 pm
Modified at - December 22, 2015, 3:37 pm

करीब 12 वर्षों के बाद संजय लीला भंसाली बड़े पर्दे पर ऐतिहासिक फिल्म 'बाजीराव मस्तानी' लेकर आए हैं। हिंदी सिनेमा में कई प्रेम कहानियों को बनाने वाले भंसाली 'खामोशी', 'हम दिल दे चुके सनम' और 'देवदास' जैसी सुपहिट फिल्म बना चुके हैं। संजय लीला भंसाली की ये फिल्म इतिहास इतिहास के पन्नों से ली गई प्रेम कहानी की मिशाल है।इस फिल्म में प्रेम में बाधक बनती है धर्म। इस कहानी को लेकर भंसाली ने काफी रिसर्च किया है। फिल्म भंसाली ने अठारहवीं सदी के पूर्वार्द्ध के मराठा नायक बाजीराव पेशवा (रणवीर सिंह) और बुंदेला राजा छत्रसाल की बेटी (इतिहासकारों में मतभेद) मस्तानी (दीपिका पादुकोण) के रिश्तों पर आधारित है। वहीं एक लड़ाई के दौरान बाजीराव की मुलाकात मस्तानी से होती है। जिसमें मस्तानी खुद भी एक योद्धा हैं। उनकी तलवारबाजी के आगे बड़े- बड़े सूरमाओं की नहीं चलती है। बाजीराव का पहली शादी काशीबाई (प्रियंका चोपड़ा) से होती है, जो खुद से ज्यादा बाजीराव को पसंद करती हैं। बाजीराव और मस्तानी की प्रेम कहानी के बाद फिल्म में कई अहम मोड़ आते हैं। फिल्म में भव्य सेट, एक्टर्स की भीड़ और कहानी बांध कर रखती है।


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News