कृषि मंत्रालय ने कृषि क्षेत्र में डिजिटल तकनीक को बढ़ावा देने के लिए पांच एमओयू पर हस्ताक्षर किए

कृषि मंत्रालय ने कृषि क्षेत्र में डिजिटल तकनीक को बढ़ावा देने के लिए पांच एमओयू पर हस्ताक्षर किए

Edited By: , September 14, 2021 / 10:45 PM IST

नयी दिल्ली, 14 सितंबर (भाषा) कृषि मंत्रालय ने मंगलवार को सिस्को, निन्जाकार्ट, जियो प्लेटफॉर्म्स लिमिटेड, आईटीसी लिमिटेड और एनसीडीईएक्स ई-मार्केट्स लिमिटेड (एनईएमएल) के साथ पांच समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए। यह समझौता, कृषि क्षेत्र में डिजिटल प्रौद्योगिकी और अन्य सर्वोत्तम व्यवहारों को बढ़ावा देने के लिए शुरुआती परियोजनाएं चलाने के लिए किए गये हैं।

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि कृषि क्षेत्र का आधुनिकीकरण नई तकनीकों से जारी रहेगा ताकि किसान अपनी आय बढ़ा सकें।

वह यहां समझौता ज्ञापन हस्ताक्षर समारोह में बोल रहे थे।

एक सरकारी बयान में कहा गया, ‘‘सिस्को, निन्जाकार्ट, जियो प्लेटफॉर्म्स लिमिटेड, आईटीसी लिमिटेड और एनसीडीईएक्स ई-मार्केट्स लिमिटेड (एनईएमएल) के साथ प्रायोगिक परियोजनाओं के लिए समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए गए।’’

इन प्रायोगिक परियोजनाओं के आधार पर, किसान इस बारे में सोच समझकर निर्णय लेने में सक्षम होंगे कि किस फसल को उगाना है, किस किस्म के बीज का उपयोग करना है और उपज को अधिकतम करने के लिए कौन सी सर्वोत्तम प्रथाओं को अपनाना है।

इसमें कहा गया है, ‘‘कृषि आपूर्ति श्रृंखला के कारोबारी, सटीक और समयानुकूल जानकारी के आधार पर अपनी खरीद योजना बना सकते हैं। किसान अपनी उपज को बेचने या भंडारण करने तथा कब और कहां और किस कीमत पर बेचें इस बारे में पूरी जानकारी के साथ निर्णय ले सकते हैं।’’

कृत्रिम बुद्धिमत्ता, ब्लॉक चेन, सुदूर संवेदी और जीआईएस तकनीक, ड्रोन और रोबोट के उपयोग आदि जैसी नई तकनीकों पर आधारित परियोजनाओं के लिए सरकार द्वारा वर्ष 2021-25 के लिए एक डिजिटल कृषि मिशन शुरू किया गया है।

भाषा राजेश

राजेश महाबीर

महाबीर