कोल इंडिया ने हरित क्षेत्र विकसित करने के वार्षिक लक्ष्य को समय से पहले प्राप्त किया |

कोल इंडिया ने हरित क्षेत्र विकसित करने के वार्षिक लक्ष्य को समय से पहले प्राप्त किया

कोल इंडिया ने हरित क्षेत्र विकसित करने के वार्षिक लक्ष्य को समय से पहले प्राप्त किया

: , November 25, 2022 / 05:01 PM IST

कोलकाता, 25 नवंबर (भाषा) कोल इंडिया ने कहा है कि हरित क्षेत्र विकसित करने का वार्षिक लक्ष्य उसने नवंबर महीने के मध्य में ही पार कर लिया। दुनिया की सबसे बड़ी खनन कंपनी ने उम्मीद जताई है कि वह 70 करोड़ टन के उत्पादन लक्ष्य को भी पा लेगी।

कोल इंडिया ने कहा कि 2022-23 के लिए उसका लक्ष्य 1,510 हेक्टेयर क्षेत्र में पौधारोपण का था लेकिन उसने 15 नवंबर तक 1,526 हेक्टेयर भूमि में पौधारोपण किया जो लक्ष्य से अधिक है। कंपनी ने कहा, ‘‘अधिक पौधारोपण से प्रतिवर्ष 76,544 टन कार्बन को अवशोषित करने में मदद मिलेगी। कार्बन उत्सर्जन में कमी लाने के लिए हाल के वर्षों में कोल इंडिया ने अपने खनन क्षेत्रों को हरित बनाने के प्रयास तेज कर दिए हैं।’’

कोल इंडिया का पौधारोपण वाला क्षेत्र 2020-21 के 862 हेक्टेयर से अब तक 77 फीसदी बढ़ चुका है। बीते पांच वर्षों में, इस वर्ष मार्च माह तक 4,392 हेक्टेयर क्षेत्र को हरित बनाने से प्रतिवर्ष 2.2 लाख टन कार्बन सोखने की क्षमता विकसित हो गई है।

कंपनी के चेयरमैन प्रमोद अग्रवाल ने कहा, ‘‘कोल इंडिया का लक्ष्य 2026-27 तक पूरी तरह से शून्य कार्बन उत्सर्जन वाली कंपनी बनना है।’’ कोल इंडिया ने 2021-22 तक 30.42 लाख पौधे रोपे हैं जिसके साथ खनन वाले इलाकों में हरित क्षेत्र बढ़कर 1,468.5 हेक्टेयर हो गया है।

दूसरी ओर कंपनी का उत्पादन 24 नवंबर तक सालाना आधार पर 17 फीसदी बढ़कर 40 करोड़ टन हो गया।

भाषा

मानसी रमण

रमण

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)