प्रौद्योगिकी के प्रभावी विनियमन के लिए सामूहिक वैश्विक कार्रवाई जरूरी: वित्त मंत्री

प्रौद्योगिकी के प्रभावी विनियमन के लिए सामूहिक वैश्विक कार्रवाई जरूरी: वित्त मंत्री

Edited By: , December 3, 2021 / 03:38 PM IST

नयी दिल्ली, तीन दिसंबर (भाषा) वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को लगातार बदलती प्रौद्योगिकी और तकनीक संचालित भुगतान प्रणालियों के प्रभावी विनियमन के लिए ‘सामूहिक वैश्विक कार्रवाई’ का आह्वान किया।

उन्होंने कहा कि अब तक नियामक लगातार बदल रही प्रौद्योगिकी को विनियमित करने में केवल ‘बराबरी तक पहुंचने’ में लगे हैं और इसलिए इसे विनियमित करने को लेकर कोई तय सूत्र नहीं है।

उनकी टिप्पणी सरकार द्वारा क्रिप्टोकरेंसी को विनियमित करने के लिए कानून लाने की तैयारी की पृष्ठभूमि में आयी है।

वित्त मंत्री ने कहा, ‘ऐसे में जब हम राष्ट्रीय स्तर पर इस बारे में सोच रहे हैं, एक वैश्विक तंत्र होना चाहिए जिसके माध्यम से हम लगातार प्रौद्योगिकी में होने वाले बदलाव की निगरानी करें। प्रौद्योगिकी मतबल क्रिप्टोकरेंसी हो सकता या तकनीक-संचालित भुगतान प्रणाली या आंकड़े की गोपनीयता, या फिर यह सुनिश्चित करना कि आंकड़ों का सही तरह से इस्तेमाल किया जाए।’’

सीतारमण ने कहा, ‘अगर आप आंकड़ों को राजस्व पैदा करने वाले विकल्पों के रूप में देख रहे हैं, तो इसके विनियमन के लिए सामूहिक प्रयास करना होगा।’

उन्होंने ‘इन्फिनिटी मंच 2021’ को संबोधित करते हुए कहा कि प्रौद्योगिकी किसी भौतिक सीमा का सम्मान नहीं करती है और सीमाओं को पार करने की ताकत रखती है। इसका मतलब है कि प्रभावी तरीके से विनियमन के लिए वैश्विक कार्रवाई ही एकमात्र तरीका है।

भाषा प्रणव रमण

रमण