कारखाना बंद करने के विरोध में फोर्ड कर्मचारियों का प्रदर्शन, तमिलनाडु सरकार से हस्तक्षेप की मांग

कारखाना बंद करने के विरोध में फोर्ड कर्मचारियों का प्रदर्शन, तमिलनाडु सरकार से हस्तक्षेप की मांग

Edited By: , September 14, 2021 / 08:20 PM IST

चेन्नई, 14 सितंबर (भाषा) अमेरिकी वाहन कंपनी फोर्ड इंडिया के कर्मचारियों के एक वर्ग ने कारखाना बंद किये जाने के विरोध में यहां प्रदर्शन किया। कर्मचारियों ने इस मामले में तमिलनाडु सरकार से हस्तक्षेप से अपील की है। कर्मचारी यूनियन के सूत्रों ने यह जानकारी दी।

मुख्यमंत्री एम के स्टालिन, उद्योग मंत्री तंगम तेनारासु तथा वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों के बीच यहां सचिवालय में इस मुद्दे पर बैठक हुई।

चेन्नई फोर्ड एम्पलाइज यूनियन ने एक बयान में विनिर्माण इकाई को बंद करने के फैसले पर गहरा क्षोभ जताते हुए कहा कि प्रबंधन को वैकल्पिक कदम उठाने चाहिए जिससे 2,700 कर्मचारियों की आजीविका प्रभावित नहीं हो।

यूनियन ने कंपनी से इस कारखाने को बंद नहीं करने का अनुरोध किया है। यूनियन ने कहा है कि यदि कंपनी कारखाने को बंद करती है, तो प्रबंधन को यहां के कर्मचारियों को अन्य उत्पादन इकाइयों में स्थान देना चाहिए जिससे उनकी आजीविका बची रहे।

इस बारे में कर्मचारियों तथा प्रबंधन के बीच पिछले दो दिन के दौरान हुई बैठक के वांछित नतीजे नहीं मिले हैं। इसकी वजह से कर्मचारियों ने शहर से 50 किलोमीटर दूर मराईमलाई नगर में स्थित कारखाने के बाहर प्रदर्शन किया।

कई कर्मचारियों ने कारखाने की वर्दी पहनी हुई थी। विरोध प्रदर्शन को सेंटर ऑफ इंडियन ट्रेड यूनियंस (सीटू) का समर्थन हासिल था।

भाषा अजय

अजय महाबीर

महाबीर