सरकार ने वित्त वर्ष 2022-23 के लिये कर्ज जुटाने का लक्ष्य 10,000 करोड़ रुपये घटाया |

सरकार ने वित्त वर्ष 2022-23 के लिये कर्ज जुटाने का लक्ष्य 10,000 करोड़ रुपये घटाया

सरकार ने वित्त वर्ष 2022-23 के लिये कर्ज जुटाने का लक्ष्य 10,000 करोड़ रुपये घटाया

: , November 29, 2022 / 08:26 PM IST

नयी दिल्ली, 29 सितंबर (भाषा) सरकार ने बृहस्पतिवार को चालू वित्त वर्ष के लिये बाजार उधारी लक्ष्य में 10,000 करोड़ रुपये की कमी की। यह बताता है कि कर संग्रह में अच्छी तेजी है।

वित्त मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि सरकार चालू वित्त वर्ष की दूसरी छमाही यानी अक्टूबर-मार्च के दौरान कुल 5.92 लाख करोड़ रुपये का कर्ज लेगी। इसमें 16,000 करोड़ रुपये का पहला सरकारी हरित बॉन्ड जारी करना शामिल है।

सरकार ने बजट में 2022-23 में कुल 14.31 लाख करोड़ रुपये के कर्ज का अनुमान रखा था। अब सरकार ने 14.21 लाख करोड़ रुपये जुटाने का निर्णय किया है।

बयान के अनुसार, ‘‘इसके अनुसार शेष राशि 5.92 लाख करेाड़ रुपये (14.21 लाख करोड़ रुपये का 41.7 प्रतिशत) 2022-23 की दूसरी छमाही में जुटाने की योजना है। यह राशि प्रतिभूति जारी कर जुटायी जाएगी। बजट में की गयी घोषणा के अनुसार इसमें 16,000 करोड़ रुपये का हरित बॉन्ड शामिल है।’’

सरकार राशि जुटाने के लिये प्रत्येक नीलामी के तहत अधिक अभिदान आने पर 2,000 करोड़ रुपये तक की बोली को रखने के विकल्प चुनेगी।

इस विकल्प के जरिये जुटायी गयी राशि दूसरी छमाही में जारी प्रतिभूतियों का तीन से पांच प्रतिशत होगी और सकल उधारी सीमा के दायरे में होगी।

उल्लेखनीय है कि सकल प्रत्यक्ष कर संग्रह 17 सितंबर तक 30 प्रतिशत से अधिक बढ़कर 8.36 लाख करोड़ रुपये रहा है।

भाषा

रमण अजय

अजय

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)