एमएफआई का ऋण पोर्टफोलियो जून, 2022 तक 23.5 प्रतिशत बढ़कर 2.93 लाख करोड़ रुपये हुआ |

एमएफआई का ऋण पोर्टफोलियो जून, 2022 तक 23.5 प्रतिशत बढ़कर 2.93 लाख करोड़ रुपये हुआ

एमएफआई का ऋण पोर्टफोलियो जून, 2022 तक 23.5 प्रतिशत बढ़कर 2.93 लाख करोड़ रुपये हुआ

: , September 22, 2022 / 05:13 PM IST

मुंबई, 22 सितंबर (भाषा) सूक्ष्म वित्त (माइक्रोफाइनेंस) संस्थानों का सकल ऋण पोर्टफोलियो (जीएलपी) जून, 2022 तक सालाना आधार पर 23.5 प्रतिशत बढ़कर 2,93,154 करोड़ रुपये हो गया।

सूक्ष्म वित्त संस्थान नेटवर्क (एमएफआईएन) की रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है। एमएफआईएन भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा मान्यता प्राप्त एक स्व-नियामक संगठन है।

रिपोर्ट में कहा गया कि चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में वितरित ऋणों की संख्या 116 लाख रही, जबकि एक साल पहले की समान अवधि में यह आंकड़ा 71 लाख था।

एमएफआईएन के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) आलोक मिश्रा ने एक बयान में कहा कि माइक्रोफाइनेंस के लिए नए नियमों की घोषणा के बाद, ज्यादातर संस्थानों ने नीतिगत बदलाव करने और इन दिशानिर्देशों को अपनाने में कुछ समय लिया, लेकिन इसके बावजूद वे पोर्टफोलियो में सालाना आधार पर 23.5 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज करने में सक्षम थे।

रिपोर्ट में कहा गया कि जून तिमाही के दौरान जीएलपी इससे पिछली तिमाही के मुकाबले 2.7 प्रतिशत बढ़ा, जो पिछली मार्च तिमाही के अंत में 2.85 लाख करोड़ रुपये था।

एमएफआईएन के चेयरमैन देवेश सचदेव ने कहा कि कोविड के बाद वितरण की ऋण गुणवत्ता 95 प्रतिशत से अधिक है। उन्होंने कहा कि आने वाले वर्षों में यह क्षेत्र सतत वृद्धि के लिए तैयार है।

भाषा पाण्डेय अजय

अजय

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)