बाधाओं को दूर करें, बिजली संयंत्रों को निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करें: कोयला मंत्री ने सीआईएल से कहा

बाधाओं को दूर करें, बिजली संयंत्रों को निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करें: कोयला मंत्री ने सीआईएल से कहा

Edited By: , October 14, 2021 / 10:39 PM IST

रांची, 14 अक्टूबर (भाषा) केंद्रीय कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी ने बृहस्पतिवार को कोयला कंपनियों से बिजली उत्पादन संयंत्रों को कोयले की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए खनन और उत्पादन में आने वाली बाधाओं को दूर करने के लिए कहा।

कोयला, खान और संसदीय कार्य मंत्री जोशी देश भर के विभिन्न बिजली संयंत्रों में ईंधन की कमी की खबरों के बीच झारखंड के एक दिवसीय दौरे पर हैं।

उन्होंने राज्य में कुछ परियोजनाओं का जायजा लेने के अलावा कोल इंडिया की इकाई सेंट्रल कोलफील्ड्स लिमिटेड (सीसीएल) और भारत कोकिंग कोल लिमिटेड (बीसीसीएल) के शीर्ष अधिकारियों के साथ लंबी बैठकें कीं।

जोशी ने सीआईएल की सहायक कंपनियों के अधिकारियों से कहा, ‘‘त्योहार शुरू हो गये हैं और बिजली संयंत्रों को कोयले की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करना हमारा कर्तव्य है।’’

मंत्री ने चतरा जिले में संवाददाताओं से कहा कि कुछ खदानों के बंद होने और कुछ अन्य खदानों में मानसून की बारिश के कारण पानी भरने से यह कोयला संकट पैदा हुआ है, लेकिन घबराने की जरूरत नहीं है क्योंकि स्थिति में सुधार हो रहा है।

मंत्री ने बाद में एक ट्वीट में कहा, ‘‘झारखंड के चतरा जिले में स्थित सीसीएल की अशोक ओपनकास्ट कोयला खदान का दौरा किया। दो करोड़ टन की सालाना उच्च क्षमता वाली यह खदान सीसीएल की सबसे बड़ी कोल परियोजनाओं में से एक है। खदान के कामगारों से बातचीत की और उनका कोयला उत्पादन एवं आपूर्ति बढ़ाने के निर्देश दिये।’’

सीसीएल के एक बयान में कहा गया है कि जोशी ने दो सहायक कंपनियों के कोयला उत्पादन और आपूर्ति की समीक्षा की और निरंतर कोयला उत्पादन और संयंत्रों को आपूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

जोशी ने कहा, ‘जहां भी और जब भी आवश्यकता होती है, हम तरह की मदद देने के लिए तैयार हैं।’

इससे पहले चतरा जिले के पिपरवार में सेंट्रल कोलफील्ड्स लिमिटेड (सीसीएल) की अशोक खदान का दौरा करने वाले जोशी ने कहा कि देश में बिजली संयंत्रों को आवश्यक मात्रा में कोयला प्राप्त होता रहेगा।

भाषा कृष्ण रमण

रमण