खरीफ सत्र में चावल उत्पादन 13 प्रतिशत घटकर 9.67 करोड़ टन रहने का अनुमान: ओरिगो कमोडिटीज |

खरीफ सत्र में चावल उत्पादन 13 प्रतिशत घटकर 9.67 करोड़ टन रहने का अनुमान: ओरिगो कमोडिटीज

खरीफ सत्र में चावल उत्पादन 13 प्रतिशत घटकर 9.67 करोड़ टन रहने का अनुमान: ओरिगो कमोडिटीज

: , September 23, 2022 / 07:05 PM IST

नयी दिल्ली, 23 सितंबर (भाषा) देश के कुछ हिस्सों में कम बारिश के बीच धान के रकबे में गिरावट के कारण इस साल खरीफ सत्र में चावल का उत्पादन 13 प्रतिशत घटकर 9.67 करोड़ टन रह सकता है। ओरिगो कमोडिटीज ने अपने शुरुआती अनुमान में यह कहा है।

कृषि मंत्रालय ने इस सप्ताह की शुरुआत में 2022-23 फसल वर्ष (जुलाई-जून) के खरीफ मौसम के लिए पहला अग्रिम अनुमान जारी किया।

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, इस साल खरीफ सीजन में चावल का उत्पादन छह प्रतिशत घटकर 10.49 करोड़ टन रहने का अनुमान है, जो पिछले साल इस दौरान 11.17 करोड़ टन था।

वर्ष 2011 में शुरू हुई गुरुग्राम की ओरिगो कमोडिटीज एक कृषि वित्तीय प्रौद्योगिकी कंपनी है। यह जिंस आपूर्ति श्रृंखला, कटाई बाद फसल प्रबंधन, कारोबार और वित्त पर केंद्रित है।

यह पहली बार है जब कंपनी ने खरीफ फसलों के अनुमान जारी किए हैं। यह नवंबर 2022 में अंतिम अनुमान जारी करेगी।

ओरिगो कमोडिटीज ने एक बयान में कहा कि 2022-23 के लिए खरीफ सत्र में चावल का उत्पादन ‘वर्ष 2021-22 में 11.17 करोड़ टन के मुकाबले 9.67 करोड़ टन रह सकता है, जो 13 प्रतिशत कम है।

ओरिगो कमोडिटीज के नवीनतम अनुमान के अनुसार, फसल वर्ष 2022-23 के लिए कुल खरीफ उत्पादन 64.42 करोड़ टन पर रहने का अनुमान है, जो पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में दो प्रतिशत कम है।

बयान में कहा गया है कि धान, मूंगफली, अरंडी, जूट और गन्ने के उत्पादन में गिरावट की आशंका के कारण कुल खरीफ उत्पादन कम होने का अनुमान है।

भाषा जतिन रमण

रमण

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)