रूस-यूक्रेन युद्ध, चीन-अमेरिका संबंधों में गिरावट से जलवायु लक्ष्य पर वैश्विक सहयोग खतरे में: आईएमएफ |

रूस-यूक्रेन युद्ध, चीन-अमेरिका संबंधों में गिरावट से जलवायु लक्ष्य पर वैश्विक सहयोग खतरे में: आईएमएफ

रूस-यूक्रेन युद्ध, चीन-अमेरिका संबंधों में गिरावट से जलवायु लक्ष्य पर वैश्विक सहयोग खतरे में: आईएमएफ

: , October 5, 2022 / 07:55 PM IST

वाशिंगटन, पांच अक्टूबर (भाषा) यूक्रेन-रूस युद्ध और चीन-अमेरिका संबंधों में गिरावट से जुड़े भू-राजनीतिक संकट ने जलवायु लक्ष्यों पर वैश्विक सहयोग को खतरे में डाल दिया है।

अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ) ने बुधवार को चेतावनी देते हुए कहा कि जलवायु परिवर्तन के खिलाफ समय पर लड़ाई के लिए तुरंत विश्वसनीय, पारदर्शी और महत्वाकांक्षी कार्रवाई की जरूरत है।

आईएमएफ ने अगले सप्ताह यहां आईएमएफ और विश्व बैंक की वार्षिक बैठक से पहले जारी एक रिपोर्ट में कहा, ‘‘जलवायु के सबसे विनाशकारी नुकसान को टालने में देर नहीं हुई है।’’

रिपोर्ट में कहा गया, ‘‘यह सुनिश्चित करने के लिए कि उचित लागत पर तापमान में वृद्धि दो डिग्री सेल्सियस से नीचे रहे……तुरंत विश्वसनीय, पारदर्शी और महत्वाकांक्षी कार्रवाई की जरूरत होगी।’

आईएमएफ ने कहा कि यूक्रेन और रूस युद्ध से संबंधित भू-राजनीतिक संकट और बढ़ा है और चीन-अमेरिका संबंधों में हालिया गिरावट ने जलवायु लक्ष्यों पर वैश्विक सहयोग को खतरे में डाल दिया है।

इस साल फरवरी में यूक्रेन पर रूस के आक्रमण ने जिंसों की महंगाई के बीच जीवाश्म ईंधन की कीमतों में आग लगा दी है।

आईएमएफ के अनुसार, चीन और अमेरिका दुनिया के सबसे बड़े जलवायु प्रदूषक हैं। दोनों देशों का कुल मिलाकर जीवाश्म-ईंधन उत्सर्जन में लगभग 40 प्रतिशत का ‘योगदान’ है।

भाषा जतिन अजय

अजय

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)