कर संग्रह बजट अनुमान से चार लाख करोड़ रुपये अधिक रहेगा : राजस्व सचिव |

कर संग्रह बजट अनुमान से चार लाख करोड़ रुपये अधिक रहेगा : राजस्व सचिव

कर संग्रह बजट अनुमान से चार लाख करोड़ रुपये अधिक रहेगा : राजस्व सचिव

: , November 23, 2022 / 07:10 PM IST

नयी दिल्ली, 23 नवंबर (भाषा) राजस्व सचिव तरुण बजाज ने बुधवार को कहा कि कर संग्रह चालू वित्त वर्ष में बजट अनुमान से लगभग चार लाख करोड़ रुपये अधिक रहने का अनुमान है। आयकर, सीमा शुल्क और माल एवं सेवा कर (जीएसटी) संग्रह में वृद्धि से इसके अनुमानित लक्ष्य को बड़े आंकड़े के साथ पार करने की उम्मीद है।

मार्च, 2023 को समाप्त होने वाले चालू वित्त वर्ष के लिए बजट में निर्धारित कर संग्रह लक्ष्य लगभग 27.50 लाख करोड़ रुपये है।

बजाज ने पीटीआई-भाषा के साथ साक्षात्कार में कहा कि कर राजस्व में बढ़ोतरी सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में वृद्धि की तुलना में अधिक बनी रहेगी। इससे अर्थव्यवस्था को ‘संगठित’ बनाने तथा बेहतर अनुपालन में मदद मिलेगी।

उन्होंने कहा कि चालू वित्त वर्ष में व्यक्तिगत और कॉरपोरेट कर समेत प्रत्यक्ष कर संग्रह 17.50 लाख करोड़ रुपये के करीब रह सकता है। अप्रत्यक्ष करों (सीमा शुल्क, उत्पाद शुल्क और जीएसटी) की हिस्सेदारी 14 लाख करोड़ रुपये के करीब होगी।

सचिव के अनुसार, वित्त वर्ष 2022-23 में कुल कर संग्रह करीब 31.50 लाख करोड़ रुपये रहने का अनुमान है।

बजट में चालू वित्त वर्ष के लिए प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष कर संग्रह क्रमश: 14.20 लाख करोड़ रुपये और 13.30 लाख करोड़ रुपये रहने का अनुमान लगाया गया था, जिससे कुल आंकड़ा 27.50 लाख करोड़ रुपये का बनता है।

बजाज ने कहा, ‘‘हम बहुत सारे आंकड़ों का उपयोग कर रहे हैं। हमारे पास आयकर, जीएसटी विभाग और कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय का डेटा है। हमें उच्च मूल्य व्यय के बारे में भी जानकारी मिल रहा है। अर्थव्यवस्था और प्रौद्योगिकी को संगठित बनाने से अनुपालन में सुधार में मदद मिली है।’’

गौरतलब है कि वित्त वर्ष 2020-21 में प्रत्यक्ष कर संग्रह लगभग 50 प्रतिशत बढ़कर 14.10 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गया था।

भाषा जतिन अजय

अजय

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)