नेता प्रतिपक्ष के बेटे को बचाने का प्रयास कर रही भाजपा: कांग्रेस |

नेता प्रतिपक्ष के बेटे को बचाने का प्रयास कर रही भाजपा: कांग्रेस

नेता प्रतिपक्ष के बेटे को बचाने का प्रयास कर रही भाजपा: कांग्रेस

: , January 25, 2023 / 06:26 PM IST

रायपुर, 25 जनवरी (भाषा) छत्तीसगढ़ में सत्ताधारी दल कांग्रेस ने बुधवार को आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) बलात्कार के आरोपी नेता प्रतिपक्ष के बेटे को बचाने की कोशिश कर रही है।

रायपुर में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव बताएं कि आदिवासी बेटी से दुष्कर्म के आरोपी और नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल के बेटे को कहां छिपाकर रखे हैं।

छत्तीसगढ़ विधानसभा में विपक्ष के नेता और जांजगीर-चांपा विधानसभा क्षेत्र से विधायक नारायण चंदेल के बेटे पलाश चंदेल के खिलाफ एक आदिवासी महिला ने विवाह करने का झांसा देकर बलात्कार करने का आरोप लगाया है। पुलिस ने पिछले सप्ताह पलाश के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया था।

महिला ने यह भी आरोप लगाया है कि पलाश ने उसका गर्भपात भी कराया था। अभी तक पलाश की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

मरकाम ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि भाजपा आखिर बलात्कारियों को कब तक संरक्षण देती रहेगी? पूरा प्रदेश भाजपा के इस बलात्कारी प्रेम को देख रहा है।

पुलिस अपराधी को खोजने के लिए लगातार दबिश दे रही है। फिलहाल नारायण चंदेल खुद भी अज्ञातवास में है। मरकाम ने सवाल उठाया कि पुत्र मोह में नेता प्रतिपक्ष अपने बेटे को किसी भाजपा शासित राज्य में तो छुपाकर नहीं रखे हैं।

कांग्रेस नेता ने कहा कि उनकी पार्टी मांग करती है कि भाजपा नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल से इस्तीफा ले, वे इस्तीफा नहीं देते हैं तो उनको बर्खास्त किया जाये तथा उनके बलात्कारी बेटे पलाश चंदेल से आत्मसमर्पण करवाये।

रायपुर पुलिस ने इस महीने की 18 तारीख को पलाश के खिलाफ जीरो में प्राथमिकी दर्ज किया था और आगे की कार्रवाई के लिए इसे जांजगीर-चांपा पुलिस को स्थानांतरित कर दिया गया था।

इस संबंध में जांजगीर-चांपा जिले के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिल सोनी ने बताया की आरोपी पलाश चंदेल की गिरफ्तारी के लिए अलग-अलग दलों का गठन किया गया है जो उनके संभावित ठिकानों पर राज्य के भीतर और बाहर दबिश दे रहे हैं।

सोनी ने बताया कि उप पुलिस अधीक्षक चंद्रशेखर परमा के नेतृत्व में विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया गया है जो फोरेंसिक विशेषज्ञों की टीम और अन्य माध्यमों के सहयोग से साक्ष्य एकत्र कर मामले की जांच कर रही है।

भाषा संजीव संजीव संतोष

संतोष

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)