सांबा में बाबा चमलियाल की दरगाह पर करीब 25 हजार श्रद्धालु पहुंचे

सांबा में बाबा चमलियाल की दरगाह पर करीब 25 हजार श्रद्धालु पहुंचे

: , June 23, 2022 / 06:26 PM IST

जम्मू, 23 जून (भाषा) जम्मू-कश्मीर के सांबा जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटी बाबा चमलियाल की दरगाह में वार्षिक मेले में बृहस्पतिवार को श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। यह मेला कोरोना वायरस महामारी के कारण दो साल के अंतराल के बाद आयोजित हो रहा है।

पुलिस के एक अधिकारी के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर और पड़ोसी राज्यों के विभिन्न हिस्सों से करीब 25,000 से ज्यादा श्रद्धालु दोपहर दो बजे तक दरगाह आ चुके थे।

बाबा दलीप सिंह मन्हास की दरगाह में लगातार पांचवें साल पड़ोसी देश से कोई भी श्रद्धालु नहीं आया, जबकि पिछले साल फरवरी में युद्धविराम समझौते का नवीनीकरण किया गया था। इनकी दरगाह को अतीत में भारत-पाकिस्तान के मिलन के प्रतीक के रूप में जाना जाता था।

अधिकारियों ने कहा कि भारत पाकिस्तान के बीच ‘चादर’ और ‘शक्कर/शरबत’ का कोई पारंपरिक आदान-प्रदान नहीं हुआ।

सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के उपमहानिरीक्षक सुरजीत सिंह सेखों ने दरगाह पर चादर चढ़ाने के बाद पत्रकारों से कहा, “दो साल के अंतराल के बाद मेला पारंपरिक उत्साह और उमंग के साथ आयोजित किया जा रहा है।”

मेला नवंबर 2003 में तब लोकप्रिय हुआ जब भारत और पाकिस्तान के बीच युद्धविराम हुआ और समानांतर शांति पहल हुईं। यह भारत में तीन दिनों के लिए आयोजित किया जाता है, जबकि पाकिस्तान के सियालकोट जिले के सैदानवाली गांव में यह एक सप्ताह के लिए आयोजित किया जाता है।

सांबा की उपायुक्त अनुराधा गुप्ता ने कहा कि श्रद्धालुओं की सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए गए हैं जो मौसम में सुधार होने के बीच आज सुबह से ही बड़ी संख्या में दरगाह पहुंच रह हैं।

उन्होंने कहा, “हमने जिला प्रशासन और पुलिस की ओर से दरगाह पर चादर भी चढ़ाई है और जम्मू-कश्मीर और देश के बाकी हिस्सों में शांति और प्रगति के लिए प्रार्थना की है।”

भाषा नोमान माधव

माधव

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)