असम सरकार के कर्मचारियों ने ओपीएस फिर से शुरू नहीं करने पर आंदोलन तेज करने की चेतावनी दी |

असम सरकार के कर्मचारियों ने ओपीएस फिर से शुरू नहीं करने पर आंदोलन तेज करने की चेतावनी दी

असम सरकार के कर्मचारियों ने ओपीएस फिर से शुरू नहीं करने पर आंदोलन तेज करने की चेतावनी दी

: , January 24, 2023 / 10:22 PM IST

गुवाहाटी, 24 जनवरी (भाषा) पुरानी पेंशन योजना (ओपीएस) को फिर से शुरू करने का दबाव बना रहे असम सरकार के कर्मचारियों ने मंगलवार को कहा कि अगर सरकार ने उनकी मांगों को पूरा नहीं किया तो वे आंदोलन तेज करेंगे।

ऑल असम गवर्नमेंट एनपीएस एम्प्लॉइज एसोसिएशन (एएजीएनपीएसईए) के अध्यक्ष अच्युतानंद हजारिका ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘हम नयी पेंशन योजना (एनपीएस) की जगह पुरानी पेंशन योजना लाने के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं। सरकार बार-बार आश्वासन देने के बाद भी हमारी मांगों पर ध्यान नहीं दे रही है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘अपने आंदोलन की अगली कड़ी के तहत हम एक फरवरी को ‘काला दिवस’ मनाएंगे और 10 फरवरी को एक दिवसीय हड़ताल करेंगे।’’

एएजीएनपीएसईए ने दावा किया कि एनपीएस के तहत सेवानिवृत्त कर्मचारियों को हर महीने पेंशन के रूप में बहुत मामूली राशि मिलती है, जिसके माध्यम से गुजारा संभव नहीं है।

हजारिका ने यह भी कहा कि राजस्थान, छत्तीसगढ़, झारखंड, पंजाब और हिमाचल प्रदेश की सरकारों ने ओपीएस को ‘‘पहले ही बहाल’’ कर दिया है। उन्होंने कहा, ‘‘अगर सरकार कार्रवाई करने में विफल रहती है, तो हम अपना प्रदर्शन तेज करेंगे।’’

एएजीएनपीएसईए ने पिछले साल आठ नवंबर को गुवाहाटी में एक ‘पैदल मार्च’ का आयोजन किया था, जिसमें 20,000 से अधिक सरकारी कर्मचारियों के साथ-साथ अन्य राज्यों के नेताओं और श्रमिक संघों के सदस्यों ने भाग लिया था।

भाषा सुरभि नरेश

नरेश

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)