दुर्गापूजा समाराहों के दौरान अप्रिय घटनाओं पर बांग्लादेश सरकार के सम्पर्क में हैं : विदेश मंत्रालय

दुर्गापूजा समाराहों के दौरान अप्रिय घटनाओं पर बांग्लादेश सरकार के सम्पर्क में हैं : विदेश मंत्रालय

Edited By: , October 14, 2021 / 06:38 PM IST

नयी दिल्ली, 14 अक्टूबर (भाषा) भारत ने बृहस्पतिवार को कहा कि वह बांग्लादेश में दुर्गापूजा समारोहों के दौरान घटी कुछ अप्रिय घटनाओं के मद्देनजर पड़ोसी देश की सरकार के साथ सम्पर्क में है तथा वहां की सरकार ने इन घटनाओं को लेकर त्वरित कार्रवाई की है । विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी ।

बागची ने सप्ताहिक प्रेस वार्ता में कहा, ‘‘ बांग्लादेश में दुर्गापूजा समाराहों के दौरान चंद धार्मिक स्थलों पर कुछ घटनाए घटी है, कुछ हमले हुए…. यह हमारी नजर में है, हमें इसकी जानकारी है । इस बारे में हम बांग्लादेश सरकार के साथ सम्पर्क में हैं ।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ हमने देखा है कि बांग्लादेश की सरकार ने तुरंत कार्रवाई की है, उनकी पुलिस को लगाया है, सुरक्षा कदम उठाये हैं । बांग्लादेश में दुर्गापूजा त्योहार मनाया जा रहा है । इसे वहां की सरकार और लोगों के सहयोग से मनाया जा रहा है। ’’

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि भारतीय उच्चायोग और वाणिज्य दूतावास ढाका एवं अन्य स्थानों पर प्रशासन के सम्पर्क में है।

गौरतलब है कि बांग्लादेश में दुर्गा पूजा समारोह के दौरान कुछ अज्ञात उपद्रवियों ने हिंदुओं के मंदिरों को क्षतिग्रस्त कर दिया, जिसके चलते सरकार को 22 जिलों में अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती करनी पड़ी है। मीडिया की खबरों में बृहस्पितवार को बताया गया कि दंगों में तीन लोगों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए।

बीडीन्यूज24 डॉट कॉम समाचार वेबसाइट की खबर के मुताबिक ईशनिंदा के आरोपों के बाद, यहां से करीब 100 किलोमीटर की दूरी पर स्थित कमीला में एक स्थानीय मंदिर बुधवार को सोशल मीडिया पर मचे बवाल का केंद्र बिंदु बन गया। झड़प के बाद प्रशासन और पुलिस ने स्थिति को नियंत्रित करने की कोशिश की।

खबर में बताया गया है कि चांदपुर के हाजीगंज, चटगांव के बांसखली और कॉक्स बाजार के पेकुआ में हिंदू मंदिरों को नुकसान पहुंचाये जाने की घटनाएं भी हुई हैं।

‘ढाका ट्रिब्यून’ समाचार-पत्र ने खबर दी कि एक स्थान पर स्थिति नियंत्रण से बाहर हो गई और दंगे कई दुर्गा पूजा आयोजन स्थलों तक फैल गए।

भाषा दीपक दीपक माधव

माधव