सपा विधायक सोलंकी पर दर्ज मामलों की गुण-दोष के आधार पर हो जांच : भाजपा सांसद |

सपा विधायक सोलंकी पर दर्ज मामलों की गुण-दोष के आधार पर हो जांच : भाजपा सांसद

सपा विधायक सोलंकी पर दर्ज मामलों की गुण-दोष के आधार पर हो जांच : भाजपा सांसद

: , December 1, 2022 / 07:37 PM IST

कानपुर (उत्तर प्रदेश), एक दिसंबर (भाषा) कानपुर से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद सत्यदेव पचौरी ने आगजनी के आरोपी सीसामऊ सीट से समाजवादी पार्टी (सपा) के विधायक पर दर्ज मामलों की तथ्यों और गुण-दोष के आधार पर जांच कराये जाने की जरूरत पर जोर दिया है।

पचौरी ने टेलीफोन पर ‘पीटीआई-भाषा’ से बातचीत में कहा कि सपा विधायक सोलंकी के खिलाफ दर्ज आपराधिक मामलों की जांच स्वतंत्र और निष्पक्ष तरीके से की जानी चाहिये।

उन पर दर्ज मुकदमों की जांच तथ्यों और गुण-दोष के आधार पर होनी चाहिये। उन्होंने इस मामले में किसी भी तरह के हस्तक्षेप से भी इनकार किया।

सपा विधायक सोलंकी, उनके छोटे भाई रिजवान सोलंकी तथा कई समर्थकों के खिलाफ गत आठ नवंबर को जमीन पर कब्जे को लेकर विवाद में नजीर फातिमा नामक महिला के घर में तोड़फोड़ और आगजनी के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है। सोलंकी इस वक्त फरार हैं।

सोलंकी ने एक वीडियो जारी कर खुद पर लगे आरोपों से इनकार किया और इल्जामात की जांच के लिये विधानसभा अध्यक्ष से एक समिति गठित करने की गुजारिश की थी।

इस बीच संयुक्त पुलिस आयुक्त (कानून-व्यवस्था) आनंद प्रकाश तिवारी ने बताया कि मंगलवार को सोलंकी के खिलाफ जाली आधार कार्ड के जरिये हवाई यात्रा करने और हवाई अड्डे की सुरक्षा को खतरे में डालने के आरोप में भी मुकदमा दर्ज किया गया है।

उन्होंने बताया कि पुलिस ने इस मामले में सपा की वरिष्ठ नेता नूरी शौकत के साथ-साथ अम्मार इलाही, अनवर मंसूरी और अख्तर मंसूरी को सोलंकी को फर्जी आधार कार्ड बनवाने में मदद के आरोप में गिरफ्तार भी किया है।

तिवारी ने बताया कि विधायक सोलंकी ने गिरफ्तारी से बचने के लिये दिल्ली से मुंबई की विमान यात्रा की और इसके लिये उन्होंने जिस आधार कार्ड का इस्तेमाल किया, उसमें तस्वीर तो उन्हीं की थी मगर नाम अशरफ अली लिखा हुआ था।

उधर, जिला शासकीय अधिवक्ता (अपराध) दिलीप अवस्थी ने बताया कि उन्होंने विधायक इरफान सोलंकी के छोटे भाई रिजवान सोलंकी पर अभियोजन के लिये अदालत में एक अर्जी दाखिल की है।

रिजवान ने अग्रिम जमानत के लिये कथित रूप से गलत सूचनाओं पर आधारित एक शपथपत्र दाखिल किया। अदालत आगामी सोमवार को इस मामले पर सुनवाई कर सकती है।

भाषा सं. सलीम

संतोष

संतोष

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)