दिल्ली पुलिस ने बलात्कार मामले में लोजपा सांसद प्रिंस राज को हिरासत में लेकर पूछताछ करने की मांग की

दिल्ली पुलिस ने बलात्कार मामले में लोजपा सांसद प्रिंस राज को हिरासत में लेकर पूछताछ करने की मांग की

Edited By: , September 16, 2021 / 08:18 PM IST

नयी दिल्ली, 16 सितंबर (भाषा) दिल्ली पुलिस ने बृहस्पतिवार को लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के सांसद प्रिंस राज की बलात्कार के एक कथित मामले में अग्रिम जमानत याचिका का विरोध किया और कहा कि उनको हिरासत में लेकर पूछताछ किए जाने की जरूरत है।

पुलिस ने विशेष न्यायाधीश एम. के. नागपाल के समक्ष कहा कि शिकायतकर्ता के दावे के मुताबिक राज से कथित आपत्तिजनक वीडियो क्लीप को बरामद किया जाना है।

राज का प्रतिनिधित्व करने वाले वरिष्ठ वकील विकास पाहवा और नितेश राणा ने पुलिस के हलफनामे का विरोध किया और दावा किया कि मामला मोहपाश में फंसाने और उगाही करने का है।

दिवंगत रामविलास पासवान के भतीजे और चिराग पासवान के चचेरे भाई राज बिहार के समस्तीपुर से सांसद हैं।

पाहवा ने मामले को ‘‘मामूली’’ करार दिया और अदालत से कहा, ‘‘बलात्कार पीड़िता यहां नहीं है, यह गलत मामला है।’’

राणा ने न्यायाधीश से कहा कि शिकायतकर्ता और उसका दोस्त राज से 2020 से ही उगाही कर रहे हैं और इस सिलसिले में इस वर्ष 10 फरवरी को संसद मार्ग थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई।

उन्होंने कहा, ‘‘उसने (शिकायतकर्ता) धमकी दी कि अगर वह उगाही के पैसे नहीं देते हैं तो उनकी (राज) छवि खराब कर देगी। उन्होंने दो लाख रुपये दे दिए लेकिन उगाही अब भी जारी है। मेरे मुवक्किल द्वारा प्राथमिकी दर्ज कराए जाने के बाद शिकायतकर्ता और उसके दोस्त को अदालत से अग्रिम जमानत लेनी पड़ी।’’

अदालत मामले में आगे की सुनवाई शुक्रवार को करेगी।

अदालत के निर्देश पर नौ सितंबर को प्राथमिकी दर्ज किए जाने के बाद राज ने अग्रिम जमानत के लिए याचिका दायर की है।

वकील ने कहा कि 31 मई को महिला ने राज के खिलाफ कथित बलात्कार की शिकायत दर्ज कराई।

भाषा नीरज नीरज उमा

उमा