फाइनर ने हत्या की साजिश मामले में समिति गठित करने से जुड़े भारत के निर्णय को स्वीकार किया: अमेरिका

फाइनर ने हत्या की साजिश मामले में समिति गठित करने से जुड़े भारत के निर्णय को स्वीकार किया: अमेरिका

  •  
  • Publish Date - December 5, 2023 / 08:49 PM IST

नयी दिल्ली, पांच दिसंबर (भाषा) अमेरिका के प्रधान उप राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जोनाथन फाइनर ने अमेरिकी धरती पर सिख अलगाववादी की हत्या की साजिश से जुड़े मामले की जांच के दौरान जिम्मेदार पाए जाने वाले किसी भी व्यक्ति को जवाबदेह ठहराने के महत्व से भारत को अवगत कराया है।

अमेरिका ने इस मामले में किसी भारतीय के शामिल होने का संदेह जताया था, जिसके बाद भारत ने जांच की बात कही थी।

फाइनर की भारत यात्रा के बीच व्हाइट हाउस ने कहा कि उन्होंने अमेरिका में इस घातक साजिश की जांच के लिए भारत द्वारा एक समिति का गठन किए जाने के फैसले को स्वीकार किया है और जिम्मेदार पाए जाने वाले किसी भी व्यक्ति को जवाबदेह ठहराने के महत्व को रेखांकित किया।

व्हाइट हाउस ने दिल्ली में फाइनर की बैठकों का जिक्र करते हुए एक विज्ञप्ति में कहा, “फाइनर ने अमेरिका में घातक साजिश की जांच के लिए भारत द्वारा एक जांच समिति का गठन किए जाने और जिम्मेदार पाए जाने वाले किसी भी व्यक्ति को जवाबदेह ठहराने के महत्व को स्वीकारा।’’

विज्ञप्ति में यह भी कहा गया है कि फाइनर ने भारतीय नेताओं के साथ अपनी बैठकों के दौरान संघर्ष के बाद गाजा से संबंधित योजनाओं और द्वि-राष्ट्र समाधान पर भी चर्चा की।

व्हाइट हाउस के वरिष्ठ अधिकारी फाइनर ने विदेश मंत्री एस जयशंकर, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल, विदेश सचिव विनय क्वात्रा से मुलाकात की और डिप्टी एनएसए विक्रम मिस्री के साथ व्यापक बातचीत की।

फाइनर ने मिस्री के साथ हुई अमेरिका-भारत महत्वपूर्ण एवं उभरती तकनीक (आईसीईटी) पहल की अंतर-सत्रीय समीक्षा के लिए एक अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व किया। दोनों पक्षों ने सोमवार को समीक्षा की थी।

अमेरिका में एक भारतीय अधिकारी को सिख अलगाववादी गुरपतवंत सिंह पन्नू की हत्या की साजिश रचने के आरोपी व्यक्ति से जोड़ने के कुछ दिन बाद फाइनर भारत की यात्रा पर आए।

भारत ने बृहस्पतिवार को भारतीय अधिकारी को पन्नू की हत्या की साजिश रचने वाले व्यक्ति से जोड़े जाने को ‘चिंता का विषय’ बताते हुए कहा था कि आरोपों की जांच करने वाली समिति के निष्कर्षों के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

भारत ने संबंधित आरोपों की जांच के लिए एक जांच दल का गठन किया है और कहा कि अगले कदम आरोपों की जांच कर रहे दल के निष्कर्षों के आधार पर उठाए जाएंगे।

अमेरिकी संघीय अभियोजकों ने बुधवार को 52 वर्षीय निखिल गुप्ता पर पन्नू की हत्या की नाकाम साजिश में एक भारतीय सरकारी कर्मचारी के साथ मिलकर काम करने का आरोप लगाया था।

विज्ञप्ति में कहा गया है कि आईसीईटी की समीक्षा के अलावा फाइनर ने मिस्री, मंत्री जयशंकर, एनएसए डोभाल और विदेश सचिव क्वात्रा के साथ द्विपक्षीय व क्षेत्रीय मुद्दों पर चर्चा भी की, जिसका उद्देशय व्यापक हिंद महासागर क्षेत्र सहित पूरे हिंद-प्रशांत क्षेत्र में ‘समन्वय’ को मजबूत करना है।

विज्ञप्ति के अनुसार ‘उन्होंने पश्चिम एशिया पर चर्चा की, जिसमें लाल सागर में वाणिज्यिक जहाजों पर हाल के हमले और वाणिज्यिक नौपरिवहन की स्वतंत्रता की सुरक्षा के महत्व के साथ-साथ संघर्ष के बाद गाजा की योजना और द्वि-राष्ट्र समाधान का रास्ता तलाशना शामिल है।”

भारत, फलस्तीन मुद्दे के ‘द्वि-राष्ट्र’ समाधान पर भी जोर दे रहा है।

भाषा जोहेब सुभाष

सुभाष