हरियाण के पूर्व राज्यपाल धनिकलाल मंडल का निधन |

हरियाण के पूर्व राज्यपाल धनिकलाल मंडल का निधन

हरियाण के पूर्व राज्यपाल धनिकलाल मंडल का निधन

: , November 29, 2022 / 08:10 PM IST

चंडीगढ़/पटना, 14 नवंबर (भाषा) हरियाणा के पूर्व राज्यपाल एवं बिहार विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष धनिकलाल मंडल का चंडीगढ़ में निधन हो गया। वह 90 वर्ष के थे।

हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय, मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंडल के निधन पर शोक व्यक्त किया। मंडल ने रविवार को अंतिम सांस ली। दत्तात्रेय ने ट्वीट किया, ‘‘हरियाणा के पूर्व राज्यपाल धनिक लाल मंडल के निधन की खबर सुन काफी दुखी हूं। मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवार, दोस्तों और उनके समर्थकों के साथ हैं। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे। ओम शांति।’’

मुख्यमंत्री खट्टर ने कहा कि मंडल को हमेशा एक कुशल राजनेता, प्रशासक और एक सामाजिक कार्यकर्ता के तौर पर याद किया जाएगा। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘हरियाणा के पूर्व राज्यपाल धनिक लाल मंडल के निधन का समाचार अत्यन्त दुःखद है। एक कुशल राजनेता, प्रशासक और सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में उन्हें सदैव याद रखा जाएगा। ईश्वर दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें एवं शांति प्रदान करें। विनम्र श्रद्धांजलि।’’

मंडल 1990 से 1995 तक हरियाणा के राज्यपाल थे। बिहार के मुख्यमंत्री ने मंडल के बेटे और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के विधायक भारत भूषण से फोन पर बात की और उन्हें सांत्वना दी। कुमार ने अपने शोक संदेश में कहा , ‘‘मंडल एक लोकप्रिय राजनेता तथा कुशल प्रशासक थे और अपने क्षेत्र में लोगों के बीच काफी लोकप्रिय थे। उनका निधन सामाजिक एवं राजनीतिक जगत के लिए अपूरणीय क्षति है।’’

मंडल ने वर्ष 1977 और 1980 में दो बार झंझारपुर लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्व किया था। वह मोरारजी देसाई कैबिनेट में वर्ष 1977 से 1979 तक केंद्रीय गृह राज्य मंत्री थे। उन्होंने सात फरवरी 1990 से 13 जून 1995 तक हरियाणा के राज्यपाल के रूप में कार्य किया था। कुमार ने कहा कि मंडल का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा।

मंडल का जन्म 30 मार्च 1932 को बिहार के मधुबनी के बेलहा में हुआ था। मंडल 1967, 1969 और 1972 में बिहार विधानसभा के लिए चुने गए। वह 1967 में बिहार विधानसभा के अध्यक्ष रहे। मंडल 1977 में लोकसभा के लिए चुने गए और जनवरी 1980 तक गृह राज्य मंत्री के रूप में उन्होंने सेवाएं दी। वे 1980 में दूसरी बार लोकसभा के लिए चुने गए थे।

बिहार सरकार के एक अधिकारी ने पीटीआई-भाषा को बताया कि दिवंगत मंडल का अंतिम संस्कार मंगलवार को राजकीय सम्मान के साथ मधुबनी जिले में उनके पैतृक गांव बेलहा में किया जाएगा।

भाषा आशीष माधव

माधव

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)