नि:शुल्क शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाएं मुफ्त की सौगात नहीं : केजरीवाल |

नि:शुल्क शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाएं मुफ्त की सौगात नहीं : केजरीवाल

नि:शुल्क शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाएं मुफ्त की सौगात नहीं : केजरीवाल

: , August 15, 2022 / 05:27 PM IST

नयी दिल्ली, 15 अगस्त (भाषा) दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को कहा कि नि:शुल्क शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाएं मुफ्त की सौगात नहीं हैं और इन दोनों तक पहुंच एक पीढ़ी में देश की गरीबी को खत्म कर सकती है।

यहां छत्रसाल स्टेडियम में दिल्ली सरकार के स्वतंत्रता दिवस समारोह में, उन्होंने इस बात पर जोर भी दिया कि पूरे देश में स्कूली शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा को पांच साल में नया रूप दिया जा सकता है, जैसा कि राष्ट्रीय राजधानी में हुआ है।

हाल के समय में मुफ्त की सौगात को लेकर राजनीतिक बयानबाजी हुई है और भाजपा ने केजरीवाल पर इसका इस्तेमाल सत्ता के लिए लोगों को प्रलोभन देने में करने का आरोप लगाया है।

पिछले महीने, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश में बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन करने के बाद, वोट हासिल करने के लिए मुफ्त उपहार देने की ‘‘रेवड़ी संस्कृति’’ के खिलाफ लोगों को आगाह किया था और कहा था कि यह देश के विकास के लिए ‘‘बहुत खतरनाक’’ है।

सोमवार को छत्रसाल स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम में हजारों बच्चों को आमंत्रित किया गया था। इस कार्यक्रम में केजरीवाल ने कहा कि देश के 130 करोड़ लोगों को एकसाथ आने और भारत को दुनिया का नंबर एक देश बनाने का संकल्प लेने की जरूरत है।

उन्होंने कहा, ‘‘हमने एकसाथ आकर अंग्रेजों को देश से निकाला था। आज, अगर हम साथ आये तो भारत को दुनिया का नंबर एक देश बना सकते हैं।’’

केजरीवाल ने भारत के बाद स्वतंत्रता हासिल करने वाले कई देशों के उससे आगे निकल जाने का जिक्र करते हुए एक बार फिर दोहराया कि बेहतर शिक्षा और स्वास्थ्य देखभाल एक समृद्ध देश बनने की कुंजी है।

उन्होंने कहा, ‘‘अमेरिका, कनाडा, जर्मनी और डेनमार्क जैसे देश कैसे अमीर हो गए? उन्होंने अपने नागरिकों के लिए अच्छी शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधाओं की व्यवस्था की। हम भी भारत को दुनिया का नंबर एक देश बनाएंगे।’’

केजरीवाल ने कहा, ‘‘तिरंगा तभी ऊंचा होगा, जब हर भारतीय की अच्छी स्वास्थ्य सेवा और शिक्षा तक पहुंच हो।’’

उन्होंने कहा, ‘‘सभी को देश की स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ की शुभकामनाएं। देश में खुशी एवं उत्साह है। आबोहवा में देशभक्ति और जुनून की लहर है।’’

उन्होंने दिल्ली में आम आदमी पार्टी (आप) सरकार की उपलब्धियों के बारे में बात करते हुए कहा कि उनकी सरकार ने शहर में शिक्षा प्रणाली और स्वास्थ्य सुविधाओं में सुधार किया है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा, ‘‘सरकारी स्कूल पहले जर्जर स्थिति में थे, बच्चे कालीन पर बैठते थे और कोई शिक्षा नहीं मिलती थी। हालांकि, हमने सरकारी स्कूलों में सुधार किया और आज, सरकारी स्कूल में पढ़ने वाला एक गरीब बच्चा भी वकील या इंजीनियर बनने का सपना देख सकता है।’’

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि सरकार ने स्वास्थ्य सेवा के बुनियादी ढांचे में सुधार किया है और लोगों को दिल्ली में अस्पतालों में मुफ्त इलाज की सुविधा हासिल है।

उन्होंने कहा, ‘‘हम औसतन, हर दिल्लीवासी की स्वास्थ्य देखभाल पर 2,000 रुपये खर्च कर रहे हैं। हम 130 करोड़ भारतीयों के लिए 2.5 लाख करोड़ रुपये में अच्छी स्वास्थ्य सुविधाओं की व्यवस्था कर सकते हैं। हम पांच साल में विश्व स्तरीय मोहल्ला क्लीनिक और अस्पताल खोल सकते हैं।’’

सभी स्वतंत्रता सेनानियों और देश के विकास एवं प्रगति के लिए संघर्ष करने वालों को श्रद्धांजलि देते हुए उन्होंने कहा कि यह विभिन्न क्षेत्रों में प्रगति का जश्न मनाने का समय है।

उन्होंने कहा, ‘‘हालांकि, हमें चुनौतियों और हमारे भविष्य के कदम पर सोचने की जरूरत है। कई लोग पूछ रहे हैं कि 75 वर्षों में कई देश (हमसे) आगे क्यों हो गए। सिंगापुर को भारत की आजादी के 15 साल बाद स्वतंत्रता मिली और दूसरे विश्व युद्ध में तबाह हुआ जापान हमसे आगे निकल गया। हम किसी से कम नहीं हैं। भारतीय दुनिया में सबसे बुद्धिमान, मेहनती लोग हैं, लेकिन फिर भी हम पिछड़ गए हैं।’’

उन्होंने ‘‘हम होंगे कामयाब’’ गाकर अपना संबोधन समाप्त किया।

भाषा अमित दिलीप

दिलीप

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)