अप्रैल-जून में कुतुब मीनार देखने के लिए सबसे ज्यादा विदेश पर्यटक पहुंचे: आरटीआई |

अप्रैल-जून में कुतुब मीनार देखने के लिए सबसे ज्यादा विदेश पर्यटक पहुंचे: आरटीआई

अप्रैल-जून में कुतुब मीनार देखने के लिए सबसे ज्यादा विदेश पर्यटक पहुंचे: आरटीआई

: , November 29, 2022 / 08:44 PM IST

(फोटो सहित)

(सलोनी भाटिया)

नयी दिल्ली, 29 सितंबर (भाषा) इस साल अप्रैल-जून के दौरान राष्ट्रीय राजधानी में स्थित कुतुब मीनार को देखने के लिए सबसे ज्यादा विदेशी सैलानी पहुंचे।

सूचना का अधिकार अधिनियम (आरटीआई) के तहत दायर आवेदन के जवाब में उपलब्ध कराई जानकारी के मुताबिक, इस अवधि के दौरान कुतुब मीनार के बाद सबसे ज्यादा विदेशी पर्यटक लाल किला पहुंचे जबकि इस फेहरिस्त में हुमायूं का मकबरा तीसरे स्थान पर रहा।

आंकड़ों के मुताबिक, अप्रैल से जून के बीच 15,51,975 भारतीय पर्यटन स्थलों में घूमने पहुंचे थे जबकि विदेशी सैलानियों की संख्या 21,580 है।

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई), दिल्ली क्षेत्र की ओर से साझा किए गए आंकड़ों के मुताबिक, अप्रैल से जून के बीच 3,81,249 भारतीय पर्यटक और 9063 विदेशी सैलानी कुतुब मीनार को देखने पहुंचे। कुतुब मीनार दिल्ली में यूनेस्को द्वारा मान्यता प्राप्त विश्व विरासत स्थल है।

सबसे ज्यादा विदेश पर्यटक अप्रैल में इस स्मारक को देखने पहुंचे।

तीन महीने के दौरान 5696 विदेशी पर्यटक मुगलकालीन लाल किला देखने पहुंचे। इस अवधि में 8,13,434 भारतीय सैलानियों ने घूमने के लिए लाल किले का रुख किया जो कुतुब मीनार जाने वाले लोगों की संख्या का दोगुना है।

जानकारी के अनुसार, 5139 विदेशी पर्यटकों ने हुमायूं के मकबरे को चुना।

केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक,लाल किला और कुतुब मीनार 2021-22 में घरेलू सैलानियों के लिए 10 सबसे लोकप्रिय केंद्र-संरक्षित स्मारकों की सूची में दूसरे और तीसरे स्थान पर रहे थे।

पुराना किला में हुमांयू के मकबरे से ज्यादा पर्यटक पहुंचे। पुराने किले को देखने के लिए 1,27,474 भारतीय और 710 विदेशी सैलानी पहुंचे।

वंसत कुंज के पास नंगल देवत वन में सुल्तान गढ़ी को देखने के लिए अप्रैल-जून के दौरान कोई भी विदेश पर्यटक नहीं गया जबकि 78 भारतीय सैलानी इसे देखने गए। वहीं खान-ए-खाना मकबरे को देखने के लिए तीन विदेशी पर्यटक पहुंचे।

हौज़ खास, कोटला फिरोज़शाह और तुगलकाबाद को देखने के लिए क्रमश: 95, 52 और 63 विदेशी पर्यटक गए।

जंतर मंतर को 38,955 भारतीय और 416 विदेशी सैलानियों ने देखा।

एएसआई के दिल्ली क्षेत्र के तहत करीब 174 स्मारक आते हैं जिनमें कुतुब मीनार, लाल किला और हुमायूं का मकबरा भी शामिल है।

भाषा नोमान नरेश

नरेश

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)