आईआईटी-दिल्ली करीब एक दशक बाद पाठ्यक्रम में बदलाव के लिए तैयार, विशेषज्ञ समिति गठित |

आईआईटी-दिल्ली करीब एक दशक बाद पाठ्यक्रम में बदलाव के लिए तैयार, विशेषज्ञ समिति गठित

आईआईटी-दिल्ली करीब एक दशक बाद पाठ्यक्रम में बदलाव के लिए तैयार, विशेषज्ञ समिति गठित

: , November 29, 2022 / 08:43 PM IST

(गुंजन शर्मा)

नयी दिल्ली, पांच अक्टूबर (भाषा) भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी)-दिल्ली एक दशक से अधिक समय के बाद अपने सभी पाठ्यक्रमों में आमूल-चूल परिवर्तन के लिए तैयार है। संस्थान के नये निदेशक रंगन बनर्जी ने यह जानकारी दी।

साक्षात्कार के दौरान बनर्जी ने पीटीआई-भाषा को बताया कि ज्ञान और प्रौद्योगिकी क्षेत्र का परिदृश्य तेजी से बदल रहा है, ऐसे में पाठ्यक्रम में भी इस गति के साथ बदलाव लाने की आवश्यकता है इसलिए आईआईटी-दिल्ली ने सभी पाठ्यक्रम की समीक्षा के लिए एक विशेषज्ञ समिति का गठन किया है।

उन्होंने कहा कि इंजीनियरिंग संस्थान से लेकर पूर्ण विश्वविद्यालय बनने तक, आईआईटी संस्थानों में पिछले वर्षों में बदलाव आया है।

बनर्जी ने कहा, ‘‘हम अपने पाठ्यक्रम की पूर्ण समीक्षा कर रहे हैं ताकि हम छात्रों के अनुभव को बेहतर कर सकें। यह कवायद एक दशक से अधिक समय के बाद की जा रही है। पिछले कई वर्षों में, पाठ्यक्रमों की एक विस्तृत श्रृंखला के साथ आईआईटी मुख्य रूप से स्नातक और इंजीनियरिंग संस्थानों से पूर्ण विश्वविद्यालयों में तब्दील होकर आगे बढ़ रहे हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम छात्रों के वास्तविक दुनिया से जुड़ने के लिए पाठ्यक्रम, चुनौतियों और अवसरों में सुधार करने का प्रयास कर रहे हैं, और इसलिए एक पूर्ण सुधार की आवश्यकता है। उम्मीद है कि अगले साल हमें कई बदलाव देखने को मिलेंगे। अभी हम संकाय, छात्रों और पूर्व छात्रों के साथ व्यापक विचार-विमर्श कर रहे हैं।’’

भाषा

शफीक पवनेश

पवनेश

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)