भारतीय सेना ने उपग्रह संचार परीक्षण के लिए पांच-दिवसीय अभ्यास किया |

भारतीय सेना ने उपग्रह संचार परीक्षण के लिए पांच-दिवसीय अभ्यास किया

भारतीय सेना ने उपग्रह संचार परीक्षण के लिए पांच-दिवसीय अभ्यास किया

: , August 5, 2022 / 06:41 PM IST

नयी दिल्ली, पांच अगस्त (भाषा) भारतीय सेना ने पांच-दिवसीय उपग्रह संचार अभ्यास के दौरान अंतरिक्ष आधारित अपने सभी संसाधनों का परीक्षण किया, ताकि उनकी संचालन तैयारियां सुनिश्चित की जा सके। रक्षा विभाग के सूत्रों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि सेना ने रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध के दौरान सामने आये संचार, साइबर और विद्युतचुम्बकीय प्रभावों पर आधारित एक अध्ययन भी किया है।

सूत्रों के अनुसार, 25 से 29 जुलाई तक की गयी इस कवायद को ‘स्काईलाइट’ नाम दिया गया था।

उन्होंने बताया कि भारतीय सेना भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) से जुड़े विभिन्न उपग्रहों की सेवाओं का इस्तेमाल कर रही है।

भारतीय सेना यूक्रेन में जारी युद्ध से संचार प्रौद्योगिकी संबंधी सीख लेने के लिए इसका नजदीकी अध्ययन कर रही है।

सूत्रों के अनुसार, यूक्रेन युद्ध को लेकर सेना के अध्ययन का मुख्य केंद्रबिंदु ‘सैन्य संचार एवं इलेक्ट्रॉनिक युद्ध’’ है।

उन्होंने कहा कि भारतीय सेना ने इस युद्ध से सीखा है कि दुश्मन के इलाके में संचालन योग्य रणनीतिक संचार प्रणाली की यथोचित वापसी भी महत्वपूर्ण है।

भाषा सुरेश पवनेश

पवनेश

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

#HarGharTiranga