झारखंड: वाहनों की जांच कर रही महिला पुलिस अधिकारी को मवेशियों को ले जा रहे वैन ने रौंदा, मौत |

झारखंड: वाहनों की जांच कर रही महिला पुलिस अधिकारी को मवेशियों को ले जा रहे वैन ने रौंदा, मौत

झारखंड: वाहनों की जांच कर रही महिला पुलिस अधिकारी को मवेशियों को ले जा रहे वैन ने रौंदा, मौत

: , July 20, 2022 / 03:46 PM IST

रांची, 20 जुलाई (भाषा) झारखंड की राजधानी रांची के पास कथित रूप से मवेशियों की तस्करी कर ले जा रहे एक वाहन ने मंगलवार रात को एक महिला पुलिस अधिकारी को उस समय कुचल दिया, जब वह वाहनों की जांच कर रही थीं। एक अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी।

पुलिस उप-निरीक्षक संध्या टोपनो (32) रांची के तुपुदाना इलाके में वाहनों की जांच कर रही थीं, तभी तेजी से आ रहे मवेशियों से भरे वाहन से उन्हें टक्कर मार दी गयी और चालक गाड़ी लेकर फरार हो गया।

तुपुदाना थाना प्रभारी कन्हैया सिंह ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया, ‘‘उन्हें फौरन रांची के आरआईएमएस अस्पताल (राजेंद्र आयुर्विज्ञान संस्थान) ले जाया गया। अस्पताल ले जाते समय रास्ते में उनकी मृत्यु हो गयी।’’

रांची के पुलिस अधीक्षक (नगर) अंशुमन कुमार ने कहा कि प्रथमदृष्टया यह मामला मवेशियों की तस्करी का लगता है। उन्होंने बताया, ‘‘एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है। पुलिस अन्य की तलाश कर रही है और मामले में जांच जारी है।’’

घटना के एक चश्मदीद के मुताबिक, एसआई टोपनो ने कुछ दूरी से वाहन को रोकने के लिए हाथ दिखाया, लेकिन वाहन चालक उन्हें टक्कर मारते हुए फरार हो गया।

एक दिन पहले ही हरियाणा के नूंह में अवैध खनन की जांच में लगे एक पुलिस उपाधीक्षक को भी ट्रक चालक ने कुचलकर मार डाला था। डीएसपी ट्रक को रोकने का इशारा कर रहे थे।

इस बीच, इस घटना के बाद झारंखड की मुख्य विपक्षी पार्टी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और सत्तारूढ़ गठबंधन में जुबानी जंग शुरू हो गई है। सत्तारूढ़ गठबंधन में कांग्रेस भी साझेदार है।

भाजपा ने आरोप लगाया है कि झारखंड मुक्ति मोर्चा नीत गठबंधन सरकार मवेशियों की तस्करी को संरक्षण दे रही है। वहीं, कांग्रेस ने पलटवार करते हुए कहा कि भाजपा गैर-जिम्मेदाराना बयान देकर पुलिस बल का मनोबल तोड़ने का काम कर रही है।

भाजपा के झारखंड प्रदेश अध्यक्ष और सांसद दीपक प्रकाश ने कहा, ‘‘झारखंड में हेमंत सोरेन के नेतृत्व में सरकार बनने के बाद से गो तस्करी बढ़ी है। यह सत्तारूढ़ पार्टी के संरक्षण में हो रहा है। राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति खराब है और तुपुदाना की घटना इसका उदाहरण है कि कैसे प्रदेश जंगल राज की ओर बढ़ रहा है।’’

उन्होंने कहा कि सरकार को तत्काल मवेशियों की तस्करी पर रोक लगानी चाहिए या लोगों के आक्रोश का सामना करने के लिए तैयार रहना चाहिए।

इन आरोपों पर पलटवार करते हुए कांग्रेस के झारखंड प्रदेश अध्यक्ष राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि पुलिस अपराधों को रोकने के लिए प्रतिबद्ध है और अधिकारी की जान अपना कर्तव्य निर्वहन करने के दौरान गई।

उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा नेता ऐसे गैर-जिम्मेदाराना और आपत्तिजनक बयान देकर पुलिस का मनोबल तोड़ने का प्रयास कर रहे हैं।’’

भाषा धीरज सुरेश

सुरेश

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

#HarGharTiranga