खट्टर ने किए वैष्णो देवी मंदिर के दर्शन, ‘ई-शासन’ सम्मेलन में शिरकत की |

खट्टर ने किए वैष्णो देवी मंदिर के दर्शन, ‘ई-शासन’ सम्मेलन में शिरकत की

खट्टर ने किए वैष्णो देवी मंदिर के दर्शन, ‘ई-शासन’ सम्मेलन में शिरकत की

: , November 29, 2022 / 08:58 PM IST

जम्मू, 27 नवंबर (भाषा) हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने रविवार को जम्मू-कश्मीर के रियासी जिले में ‘ई-शासन’ पर 25वें राष्ट्रीय सम्मेलन में भाग लेने से पहले माता वैष्णो देवी मंदिर में पूजा-अर्चना की।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रचारक रहे खट्टर ने अगस्त 2019 में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार द्वारा अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी बनाये जाने पर खुशी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर आतंकवाद के दौर से बाहर आ गया है और अब देश के बाकी हिस्सों के साथ विकास के पथ पर आगे बढ़ रहा है।

‘ई-शासन’ राष्ट्रीय सम्मेलन के रजत जयंती समारोह में भाग लेने से पहले खट्टर त्रिकुटा पहाड़ियों पर स्थित वैष्णो देवी मंदिर पहुंचे और वहां उन्होंने पूजा-अर्चना की। इसके बाद वह कटरा स्थित सम्मेलन स्थल श्री माता वैष्णो देवी विश्वविद्यालय (एसएमवीडीयू) के लिए रवाना हो गए।

खट्टर ने कहा, “मैंने ( आरएसएस के एक प्रचारक के रूप में) जम्मू-कश्मीर में तीन साल बिताए थे। उस समय अनुच्छेद 370 लागू था और आतंकवाद चरम पर था। उस समय हमारे बीच ज्यादातर चर्चा आतंकवाद से निपटने, (जम्मू और कश्मीर में) लोगों की सुरक्षा और शांति बहाल करने के लिए आवश्यक कदमों पर केंद्रित होती थी।’’

खट्टर ने कहा कि उन्हें खुशी है कि अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी बनाये जाने के बाद जम्मू-कश्मीर आतंकवाद के दौर से बाहर आ गया है और यहां सभी केंद्रीय कानून लागू हो गए हैं।

बाद में ई-शासन पर राष्ट्रीय सम्मेलन में अपने संबोधन में मुख्यमंत्री ने कहा कि वह दिन दूर नहीं है जब देश में पारंपरिक मतदान की जगह ई-मतदान ले लेगा।

भाषा जोहेब राजकुमार

राजकुमार

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)