गुवाहाटी में पहली बार नव वर्ष की पूर्व संध्या और उरूका पर कोई हादसा नहीं हुआ

गुवाहाटी में पहली बार नव वर्ष की पूर्व संध्या और उरूका पर कोई हादसा नहीं हुआ

Edited By: , January 15, 2022 / 08:38 PM IST

गुवाहाटी, 15 जनवरी (भाषा) शहर में पहली बार ‘उरुका’ (माघ बिहू त्योहार का पहला दिन) और नए साल की पूर्व संध्या पर कोई सड़क दुर्घटना नहीं हुई। पुलिस के एक अधिकारी ने यह जानकारी देते हुए कहा कि हादसे रोकने के लिए पुलिस ने कई उपाय किए थे।

गुवाहाटी के पुलिस आयुक्त हरमीत सिंह ने शनिवार को पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘हमने लोगों के लिए दो पहलुओं पर काम किया – शहर की सड़कों पर यात्रा करते समय उनकी सुविधा और सुरक्षा। इसके लिए, हमने लोगों को जागरूक किया और साथ ही मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा के निर्देशों के अनुसार कानून को सख्ती से लागू किया।’’

माघ बिहू को भोगाली बिहू के नाम से भी जाना जाता है । यह त्यौहार फसल कटाई के आखिर में असमी माह पुह (दिसंबर जनवरी) में मनाया जाता है ।

त्योहार के दौरान दावत लगभग एक सप्ताह तक चलती है, जो उरुका से शुरू होती है और यह संक्रांति से एक दिन पहले होती है। इस साल उरुका रात 13 जनवरी को था।

आधिकारिक आंकड़ों में कहा गया है कि शहर में 2021 में उरुका की रात्रि में दो दुर्घटनाएं हुईं, जिसमें तीन लोग घायल हो गए, जबकि 2020 में त्योहार की रात शहर में तीन दुर्घटनाएं हुईं, जिसमें एक की मौत हो गई और एक अन्य घायल हो गया था।

पुलिस रिकॉर्ड के अनुसार 31 दिसंबर 2020 और एक जनवरी 2021 के बीच कुल 15 हादसे हुये जिसमें तीन लोगों की मौत हो गयी जबकि 11 अन्य घायल हुये थे ।

सिंह ने बताया, ‘‘31 दिसंबर और एक जनवरी की रात को ज्यादातर दुर्घटनाएं शराब पीकर गाड़ी चलाने के कारण होती है । इस बार, हमने गुवाहाटी की सड़कों पर कोई दुर्घटना नहीं होने देने का संकल्प लिया था और हम इसमें सफल भी हुये ।’’

हालांकि इस दौरान यातायात नियमों का कई बार उल्लंघन हुआ। उन्होंने कहा, ‘‘हमने उरुका के दिन शराब पीकर गाड़ी चलाने के 48 मामले, बिना हेलमेट के 58 और सीटबेल्ट नहीं पहनने के 22 मामले दर्ज किए। कुल मिलाकर एक ही दिन में यातायात नियमों के उल्लंघन के 596 मामले दर्ज किए गए।’’

शहर पुलिस ने इस साल 13 जनवरी (उरुका दिवस) को 11.52 करोड़ रुपये के चालान किए।

पुलिस आयुक्त ने कहा, ‘‘दिसंबर में हमने 4.5 करोड़ रुपये से अधिक का जुर्माना वसूला।’’

भाषा रंजन पवनेश

पवनेश