श्रीनगर, जम्मू में वायु सेना अड्डों पर ड्रोन रोधी सुरक्षा मुहैया कराने के लिए एनएसजी तैनात: गणपति

श्रीनगर, जम्मू में वायु सेना अड्डों पर ड्रोन रोधी सुरक्षा मुहैया कराने के लिए एनएसजी तैनात: गणपति

Edited By: , October 16, 2021 / 07:25 PM IST

गुड़गांव, 16 अक्टूबर (भाषा) आतंकवाद रोधी बल राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) को श्रीनगर और जम्मू में भारतीय वायु सेना अड्डों पर ड्रोन रोधी सुरक्षा कवच मुहैया कराने के लिए तैनात किया गया है। बल के महानिदेशक एम ए गणपति ने शनिवार को यह जानकारी दी।

जम्मू में भारतीय वायु सेना अड्डे पर 27 जून को सीमा पार से आए दो मानव रहित एरियल व्हिकल्स (यूएवी) ने बम गिराए थे। इस घटना में वायुसेना के दो कर्मी घायल हो गए थे और इमारत के एक हिस्से को क्षति पहुंची थी।

केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में बल के ये दो प्रतिष्ठान पाकिस्तान की सीमा के नजदीक हैं और ‘संवेदनशील’ श्रेणी में आते हैं। एनएसजी के प्रमुख ने कहा कि संघीय आतंकवाद रोधी और हाइजैक रोधी कमांडो बल आतंकवाद रोधी क्षमता का विस्तार कर रहा है और उभरती सुरक्षा चुनौतियों से खुद को निपटने के लिए तैयार कर रहा है।

उन्होंने बताया कि बल की बम निरोधक टीम ने आईईडी और टिफिन बम को निष्क्रिय कर दिया था। उन्होंने यहां मानेसर में बल के 37वें स्थापना दिवस के मौके पर कहा कि एनएसजी को भारतीय वायु सेना के श्रीनगर और जम्मू अड्डों पर ड्रोन हमले से रक्षा के लिए ‘तैनात’ किया गया है और यह प्रणाली ‘सफलतापूर्वक’ काम कर रही है।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘‘ इन दो ठिकानों पर तब तक तैनाती जारी रहेगी जब तक एक पूर्णकालिक स्वतंत्र ड्रोन रोधी प्रणाली की तैनाती इन दो अड्डों पर नहीं हो जाती।’’

अधिकारी ने बताया कि एनएसजी के पास ड्रोन रोधी उपकरण, रडार, जैमर और ड्रोन गिराने वाली बंदूक मौजूद हैं। उन्होंने कहा कि जम्मू अड्डे पर ड्रोन हमले के शीघ्र बाद एनएसजी की ‘तकनीकी निगरानी’ टीम को अड्डे पर भेजा गया था, जिसने वहां अपने उपकरण तैनात किए।

गणपति से जब यह पूछा गया कि कश्मीर घाटी में आतंकवाद रोधी अभियान में विशेष रूप से प्रशिक्षित इस बल को तैनात नहीं किया जाता तो उन्होंने कहा कि एनएसजी को बंधकों को मुक्त कराने, अपहरण रोधी कार्यों में दक्षता प्राप्त है और जब भी उनकी जरूरत होगी, बल उस पर प्रतिक्रिया देगा।

इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर मौजूद केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने बल और इसके अभियानों की सराहना की और कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देश के लिए एक ‘स्वतंत्र सुरक्षा नीति’ लेकर आए हैं।

भाषा स्नेहा देवेंद्र

देवेंद्र