ओवैसी और कार्यक्रम आयोजकों के खिलाफ बाराबंकी में मामला दर्ज

ओवैसी और कार्यक्रम आयोजकों के खिलाफ बाराबंकी में मामला दर्ज

Edited By: , September 10, 2021 / 09:37 AM IST

बाराबंकी (उप्र),10 सितंबर (भाषा) बाराबंकी थाना कोतवाली नगर क्षेत्र में ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) प्रमुख असदउद्दीन ओवैसी एवं आयोजक मंडल द्वारा आयोजित कार्यक्रम में कोविड-19 दिशा-निर्देशों का उल्लंघन तथा साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने के आरोप में मामला दर्ज किया गया है।

ओवैसी बृहस्पतिवार को बाराबंकी में एक कार्यक्रम में शामिल हुए थे और आयोजक मंडल को कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए कहा गया था।

पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने शुक्रवार को बताया की नौ सितंबर को थाना कोतवाली क्षेत्रान्तर्गत मोहल्ला कटरा चन्दना में एआईएमआईएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी के कार्यक्रम में शासन द्वारा जारी कोविड-19 दिशा-निर्देशों का उलंघन करते हुए काफी संख्या में भीड़ इकट्ठा की गई और प्रशासन द्वारा दी गई अनुमति का स्पष्ट उल्लंघन किया गया।

उन्होंने बताया कि उक्त कार्यक्रम के दौरान न तो किसी ने मास्क का प्रयोग किया गया और न ही सामाजिक दूरी का पालन किया गया।

एसपी के मुताबिक एआईएमआईएम के अध्यक्ष द्वारा अपने वक्तव्य में साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने हेतु भडकाऊ भाषण दिये गये। उन्होंने कार्यक्रम में कहा कि कोतवाली रामसनेही घाट में प्रशासन ने 100 वर्ष पुरानी मस्जिद को तुड़वा दिया और उसका मलबा भी वहां से पूर्ण रूप से हटा दिया गया। एसपी ने कहा कि इस वक्तव्य से एक समुदाय विशेष को भड़काने का एवं साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने का प्रयास किया गया।

पुलिस के मुताबिक ओवैसी ने प्रधानमंत्री, भारत सरकार और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री, प्रदेश सरकार के खिलाफ भी अभद्र एवं निराधार टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि इस संबंध में औवैसी और आयोजकों के खिलाफ मामला दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

गौरतलब है कि एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी मंगलवार से उत्तर प्रदेश के तीन दिन के दौरे पर थे। उन्होंने मंगलवार को अयोध्या के रूदौली से जनसभा कर विधानसभा चुनाव 2022 के अभियान की शुरूआत की थी। बुधवार को उनका सुल्तानपुर में और बृहस्पतिवार को बाराबंकी में कार्यक्रम था ।

बाराबंकी के कार्यक्रम पर पहले जिला प्रशासन ने रोक लगा दी थी लेकिन बाद में आयोजक मंडल द्वारा कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने का आश्वासन दिये जाने के बाद कार्यक्रम की इजाजत दी गयी थी। ओवैसी उप्र के आगामी विधानसभा में 100 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषण कर चुके हैं ।

भाषा सं जफर

नेहा

नेहा