इनेलो की रैली में शामिल होंगे पवार, उद्धव, नीतीश सहित विपक्षी दलों के कई नेता |

इनेलो की रैली में शामिल होंगे पवार, उद्धव, नीतीश सहित विपक्षी दलों के कई नेता

इनेलो की रैली में शामिल होंगे पवार, उद्धव, नीतीश सहित विपक्षी दलों के कई नेता

: , September 22, 2022 / 08:23 PM IST

नयी दिल्ली, 22 सितंबर (भाषा) हरियाणा के फतेहाबाद में 25 सितंबर को इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) की रैली में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के नेता शरद पवार, बिहार के मुख्यमंत्री एवं जनता दल (यूनाइटेड) प्रमुख नीतीश कुमार, शिवसेना के उद्धव ठाकरे और द्रविड़ मुनेत्र कषगम (द्रमुक) की एम. के. कनिमोझी समेत विपक्षी दलों के कई नेता शामिल होंगे।

जनता दल (यूनाइटेड) के प्रवक्ता के. सी. त्यागी ने बताया कि राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता एवं बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, नेशनल कांफ्रेंस (नेकां) के फारूक अब्दुल्ला, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) के सीताराम येचुरी और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता बीरेंद्र सिंह ने भी पूर्व उप प्रधानमंत्री एवं इनेलो के संस्थापक देवी लाल की जयंती पर आयोजित की जा रही रैली में शामिल होने पर सहमति जतायी है।

इतने सारे क्षेत्रीय नेताओं के एक साथ आने को विपक्षी एकता की दिशा में एक प्रयास के रूप में देखा जा रहा है और इस प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के लिए रैली के बाद कुमार व राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने की भी संभावना है।

त्यागी ने कहा, ‘‘यह एक ऐतिहासिक सभा होगी, जो 2024 के लोकसभा चुनाव में सत्तारूढ़ भाजपा के खिलाफ समान विचारधारा वाले दलों की एकजुटता प्रदर्शित करेगी।’’

इतने सारे विपक्षी नेताओं, अपने राज्यों के सभी दिग्गजों की एक मंच पर उपस्थिति गैर-भाजपा ताकतों के बीच एकता के प्रयासों को गति देगी।

बीरेंद्र सिंह के कुछ समय से भाजपा से समीकरण बिगड़े हुए हैं, हालांकि उनके बेटे बृजेंद्र सिंह हिसार से पार्टी के लोकसभा सदस्य हैं।

वरिष्ठ समाजवादी नेता त्यागी शक्ति प्रदर्शन के रूप में देखी जा रही इनेलो की इस रैली में अधिक से अधिक विपक्षी नेताओं की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए सक्रिय रूप से काम कर रहे हैं।

इनेलो के संरक्षक ओम प्रकाश चौटाला के बड़े बेटे अजय चौटाला द्वारा जननायक जनता पार्टी (जजपा) का गठन करने के बाद इनेलो टूट गई और अब यह पार्टी हरियाणा में अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रही है। वहीं जननायक जनता पार्टी भाजपा की सहयोगी है और हरियाणा में दोनों पार्टियों के गठबंधन की सरकार है। पिछले विधानसभा चुनाव में इनेलो के अधिकांश पारंपरिक वोट जजपा ने हासिल किए थे।

त्यागी ने कहा कि राजस्थान में भाजपा की पूर्व सहयोगी राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के नेता व लोकसभा के सदस्य हनुमान बेनीवाल भी रैली में शामिल होंगे। हरियाणा के पूर्व मंत्री विनोद शर्मा भी इसमें हिस्सा लेंगे।

इनेलो नेता ओम प्रकाश चौटाला ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव और तेलुगू देशम पार्टी के चंद्रबाबू नायडू सहित कई अन्य बड़े क्षेत्रीय नेताओं को जनसभा में शामिल होने के लिए निमंत्रण भेजा है। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव को भी आमंत्रित किया गया है।

नीतीश कुमार कांग्रेस समेत गैर-भाजपा दलों के बीच एकता की आवश्यकता पर जोर दे रहे हैं। वह पिछले महीने भाजपा से नाता तोड़ने के बाद राहुल गांधी, पवार और आम आदमी पार्टी के अरविंद केजरीवाल समेत कई प्रमुख नेताओं के साथ बातचीत करने के लिए दिल्ली आए थे।

हरियाणा में इनेलो की कट्टर विरोधी रही कांग्रेस की अनुपस्थिति और बनर्जी व राव जैसे कुछ क्षेत्रीय दिग्गजों की तरफ से रैली में शामिल होने की पुष्टि नहीं किए जाने के बावजूद यह स्पष्ट है कि व्यापक विपक्षी एकता के लिए अब भी प्रयास किए जा रहे हैं।

भाषा जोहेब अविनाश

अविनाश

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)