पीएफआई ने हड़ताल का आह्वान किया और कांग्रेस ने पदयात्रा रोक दी : भाजपा नेता कपिल मिश्रा का आरोप |

पीएफआई ने हड़ताल का आह्वान किया और कांग्रेस ने पदयात्रा रोक दी : भाजपा नेता कपिल मिश्रा का आरोप

पीएफआई ने हड़ताल का आह्वान किया और कांग्रेस ने पदयात्रा रोक दी : भाजपा नेता कपिल मिश्रा का आरोप

: , September 23, 2022 / 04:35 PM IST

नयी दिल्ली, 23 सितंबर (भाषा) भारतीय जनता पार्टी की दिल्ली इकाई के नेता कपिल मिश्रा ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) द्वारा केरल में शुक्रवार को हड़ताल का आह्वान किया गया है इसलिए कांग्रेस ने अपनी ‘भारत जोड़ो यात्रा’ रोक दी। उन्होंने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि इससे ज्यादा ‘घटिया और शर्मनाक’ बात और कुछ नहीं हो सकती है।

मिश्रा के आरोपों पर जवाब देते हुए कांग्रेस के मीडिया और प्रचार विभाग के अध्यक्ष पवन खेड़ा ने कहा कि पदयात्रा मे प्रत्येक सप्ताह एक दिन का ‘ब्रेक’ (अवकाश) रखा गया है।

दिल्ली में आम आदमी पार्टी (आप) सरकार में मंत्री रहने के बाद भाजपा में शामिल हुए मिश्रा ने कहा, ‘‘पीएफआई और इस्लामिक जिहादी संगठनों ने आज हड़ताल का आह्वान किया और कांग्रेस ने आज अपनी पद यात्रा रोक दी। इससे घटिया और शर्मनाक कुछ नहीं हो सकता।’’

वहीं, कपिल मिश्रा पर तंज कसते हुए कांग्रेस नेता खेड़ा ने सवाल किया कि क्या यह सच है कि हाल ही में मुसलमान समुदाय तक पहुंचने का प्रयास कर रहे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत पीएफ़आई से माफ़ी माँगो यात्रा पर कूच करने वाले हैं?

खेड़ा ने ट्वीट किया, ‘‘हमारी इस #भारत_जोड़ो_यात्रा में हर सप्ताह एक दिन का ब्रेक लिया जाता है। पिछला ब्रेक 15 तारीख़ को था। अब यह बताइए क्या यह सच है, मोहन जी भागवत पीएफ़आई से माफ़ी माँगो यात्रा पर कूच करने वाले हैं?’’

कट्टरवादी संगठन पीएफआई द्वारा आहूत हड़ताल के दौरान केरल में बड़े पैमाने पर सरकारी बसों पर पथराव, दुकानों और वाहनों मे तोड़-फोड़ सहित कई जगहों पर हिंसक घटनाएं हुई हैं।

देश में आतंकवादी गतिविधियों का समर्थन करने के आरोप में पीएफआई के दफ्तरों और उसके नेताओं के आवासों पर बृहस्पतिवार को राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) तथा अन्य एजेंसियों द्वारा की गई छापेमारी के विरोध में संगठन ने हड़ताल का आह्वान किया है।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी के नेतृत्व में पार्टी की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ सात सितंबर को कन्याकुमारी, तमिलनाडु से शुरू हुई थी। यह यात्रा 10 सितंबर की शाम को केरल पहुंची। इस पदयात्रा में कांग्रेस नेता 19 दिनों में केरल के सात जिलों में जाएंगे और करीब 450 किलोमीटर की दूरी तय करेंगे। यात्रा एक अक्टूबर को कर्नाटक में प्रवेश करेगी।

कन्याकुमारी से शुरू होकर यह यात्रा जम्मू-कश्मीर तक जाएगी। 150 दिनों की इस पदयात्रा में 3,570 किलोमीटर की दूरी तय की जाएगी।

भाषा अर्पणा अविनाश

अविनाश

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)