नन से बलात्कार मामले में बिशप फ्रैंकों को बरी करने के खिलाफ अपील दायर करने पर विचार कर रही पुलिस

नन से बलात्कार मामले में बिशप फ्रैंकों को बरी करने के खिलाफ अपील दायर करने पर विचार कर रही पुलिस

Edited By: , January 15, 2022 / 05:38 PM IST

कोट्टायम (केरल), 15 जनवरी (भाषा) नन से बलात्कार के आरोप में यहां की एक सत्र अदालत द्वारा रोमन कैथोलिक बिशप फ्रैंको मुलक्कल को बरी किए जाने के एक दिन बाद, केरल पुलिस ने फैसले के खिलाफ उच्च न्यायालय में अपील दायर करने पर शनिवार को कानूनी सलाह ली।

कोट्टायम की पुलिस अधीक्षक डी शिल्पा ने संवाददाताओं को बताया कि पुलिस ने फैसले के खिलाफ अपील दायर करने के लिए विशेष लोक अभियोजक से कानूनी राय मांगी है।

उन्होंने कहा, “हमें शुक्रवार देर शाम विस्तृत फैसला मिला। हमने याचिका दायर करने के लिए कानूनी सलाह ली।”

इस बीच, बिशप ने विभिन्न गिरजाघरों का दौरा किया और पूर्व विधायक पीसी जॉर्ज से मुलाकात की, जो इस मुद्दे के सामने आने के बाद से मुलक्कल का समर्थन कर रहे थे।

जॉर्ज के साथ एक संक्षिप्त बैठक के बाद, पास के अन्य गिरजाघरों के दौरे के लिए रवाना हुए बिशप ने मीडिया के सामने टिप्पणी करने से इनकार किया।

बैठक के बाद, जॉर्ज ने मीडिया से कहा कि यह मामला चर्च और उसके अनुयायियों को निशाना बनाने का एक षड्यंत्र था।

मुलक्कल (57) पर 2014 और 2016 के बीच धर्मसंघ की यात्रा के दौरान नन से कई बार बलात्कार करने का आरोप था। उस समय वह रोमन कैथोलिक चर्च के जालंधर डायोसिस के बिशप थे।

बिशप को बरी करते हुए, अतिरिक्त जिला और सत्र न्यायालय, कोट्टायम के न्यायाधीश ने कहा था कि पीड़िता का दावा है कि 13 मौकों पर उसके साथ बलात्कार किया गया, लेकिन एकमात्र उसकी गवाही के आधार पर भरोसा नहीं किया जा सकता।

भाषा

नेहा नेत्रपाल

नेत्रपाल