पुडुचेरी : राज्य चुनाव आयोग के खिलाफ विपक्ष के बंद का आंशिक असर

पुडुचेरी : राज्य चुनाव आयोग के खिलाफ विपक्ष के बंद का आंशिक असर

Edited By: , October 11, 2021 / 04:16 PM IST

पुडुचेरी, 11 अक्टूबर (भाषा) पुडुचेरी में स्थानीय निकाय चुनावों को अधिसूचित करने में राज्य चुनाव आयोग (एसईसी) द्वारा कथित तौर पर ‘भ्रम’ की स्थिति पैदा करने के खिलाफ विपक्षी कांग्रेस के नेतृत्व वाले धर्मनिरपेक्ष जनतांत्रिक गठबंधन (एसडीए) द्वारा सोमवार को आहूत बंद का आंशिक असर देखने को मिला।

केन्द्र शासित प्रदेश में सूर्योदय से सूर्यास्त तक किए गए बंद के दौरान सभी निजी स्वामित्व वाली अंतरराज्यीय और राज्य के भीतर चलने वाली बसें सड़कों पर नहीं दिखीं जबकि सरकारी स्वामित्व वाली बसों का संचालन प्रतिदिन की भांति सामान्य रहा। इस दौरान शहर और उसके आस-पास के इलाकों में दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठानों के अलावा बड़े-बड़े बाजार भी बंद रहे।

ऑटो रिक्शा सामान्य दिनों की तरह चले जबकि निजी स्कूलों और कॉलेजों के अलावा अन्य निजी शिक्षण संस्थानों के लिए अवकाश घोषित किया गया। सरकारी शिक्षण संस्थानों में सामान्य रूप से कक्षाओं का संचालन हुआ। लेकिन, छात्रों की उपस्थिति कम ही रही।

कांग्रेस, द्रमुक (द्रविड़ मुनेत्र कषगम), वीसीके(विदुथलाई चिरुथाईगल काची) और वाम दलों सहित विपक्षी दलों के स्वयंसेवकों ने एक रैली निकाली और विभिन्न मुद्दों को लेकर प्रदर्शन किया, जिसमें राज्य चुनाव आयोग द्वारा पिछड़ा वर्ग और अनुसूचित जनजातियों के लिए आरक्षण का कोटा निर्धारित किए बिना नगर निकायों के लिए चुनावी कार्यक्रम की घोषणा करने का कड़ा विरोध किया गया।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता वी नारायणसामी ने मराई मलाई आदिगल सलाई नामक जगह पर एक विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व किया जिसमें चुनाव आयोग की कथित ‘असंवैधानिक और अस्वीकार्य’ कार्यशैली पर कड़ी आपत्ति जताई। नारायणसामी ने चुनाव आयोग पर वैधानिक और संवैधानिक प्रावधानों का उल्लंघन कर स्थानीय निकाय चुनाव कराने का आरोप लगाया।

इस बीच, चुनाव आयोग ने केंद्र शासित प्रदेश में चरणबद्ध तरीके से निकाय चुनावों की प्रक्रिया को शुरू करने वाली वैधानिक अधिसूचना जारी की।

राज्य चुनाव आयुक्त रॉय पी थॉमस ने पुडुचेरी क्षेत्र में पुडुचेरी और ओलगरेट नगर पालिकाओं के लिए दो नवंबर को होने वाले पहले चरण के मतदान के लिए अधिसूचना जारी की।

भाषा रवि कांत माधव

माधव