खनन पर रोक लगाने की मांग को लेकर चल रहे आंदोलन के दौरान साधु ने आत्मदाह का किया प्रयास |

खनन पर रोक लगाने की मांग को लेकर चल रहे आंदोलन के दौरान साधु ने आत्मदाह का किया प्रयास

खनन पर रोक लगाने की मांग को लेकर चल रहे आंदोलन के दौरान साधु ने आत्मदाह का किया प्रयास

: , July 20, 2022 / 06:25 PM IST

जयपुर, 20 जुलाई (भाषा) राजस्थान के डीग क्षेत्र में खनन पर रोक लगाने की मांग को लेकर चल रहे साधुओं के आंदोलन के दौरान एक साधु ने बुधवार को आत्मदाह का प्रयास किया। अधिकारियों के अनुसार, घायल साधु को गंभीर अवस्था में जयपुर भेजा गया है।

खो क्षेत्र के थानाधिकारी विनोद कुमार ने बुधवार को बताया कि धरनास्थल से दूर खड़े एक साधु विजय दत्त ने अचानक ज्वलनशील पदार्थ छिड़ककर खुद को आग लगा ली। उन्होंने कहा कि पुलिस वाले उसे बचाने दौड़े और आग बुझाकर उसे जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां से साधु को जयपुर रेफर किया गया।

भरतपुर मेडिकल कॉलेज की अधीक्षक डॉ जिज्ञासा साहनी ने बताया कि साधु को प्राथमिक उपचार के बाद जयपुर रेफर किया गया है। उन्होंने बताया कि साधु लगभग 80 प्रतिशत जले हैं।

इस बीच, खनन रोकने की मांग को लेकर मोबाइल टावर पर चढ़े साधु नारायण दास बुधवार को नीचे उतर गए। थानाधिकारी ने बताया कि साधु नारायण दास इलाके में खनन पर प्रतिबंध लगाने की मांग को लेकर पिछले कुछ दिनों से डीग में धरना दे रहे थे, उनके साथ कुछ और संत भी धरने पर थे।

उन्होंने बताया कि साधु नारायण दास अपनी मांगों को लेकर प्रशासन पर दबाव बनाने के लिए मंगलवार सुबह मोबाइल टावर पर चढ़ गए थे।

वहीं, इलाके में मोबाइल इंटरनेट पर रोक को बृहस्पतिवार तक बढ़ा दिया गया है। भरतपुर के संभागीय आयुक्त सांवरमल वर्मा ने भरतपुर जिले के पहाड़ी, कामां, नगर और सीकरी तहसील में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बुधवार दोपहर 12 बजे तक निलंबित करने का आदेश मंगलवार दोपहर को जारी किया था। उन्होंने बताया कि ताजा घटनाक्रम के बीच इस अवधि को एक दिन और बढ़ा दिया गया है।

उन्होंने बताया कि प्रशासनिक अधिकारी मौके पर मौजूद हैं और आंदोलनकारी साधुओं से बातचीत चल रही है।

भाषा पृथ्वी कुंज शफीक

शफीक

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

#HarGharTiranga