नए पीएमओ के साथ केंद्रीय सचिवालय, हैदराबाद हाउस जैसे सम्मेलन कक्ष की सुविधाएं होंगी

नए पीएमओ के साथ केंद्रीय सचिवालय, हैदराबाद हाउस जैसे सम्मेलन कक्ष की सुविधाएं होंगी

Edited By: , September 16, 2021 / 10:23 PM IST

नयी दिल्ली, 16 सितंबर (भाषा) वर्तमान में लुटियंस दिल्ली के विभिन्न हिस्सों में स्थित केंद्रीय सचिवालय, राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद सचिवालय और हैदराबाद हाउस जैसे एक सम्मेलन कक्ष की सुविधाएं साउथ ब्लॉक के पीछे बनने वाले नये प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) के साथ मौजूद होंगी। केंद्रीय आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय ने यह कहा है।

रक्षा मंत्रालय और सशस्त्र बलों के कर्मचारियों को साउथ ब्लॉक के पास से दूसरी जगह भेजे जाने के साथ सेंट्रल विस्टा पुनर्विकास परियोजना के तहत नये पीएमओ और प्रधानमंत्री आवास के निर्माण का मार्ग प्रशस्त हो जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को दो शानदार कार्यालय भवनों के उदघाटन कार्यक्रम में सेंट्रल विस्टा की विशेष वेबसाइट भी शुरू की, जिसमें जारी और प्रस्तावित परियोजनाओं का ब्योरा है तथा सरकार के इस महत्वाकांक्षी पुनर्विकास योजना के बारे में मिथकों का भी जवाब दिया गया है।

सेंट्रल विस्टा वेबसाइट के मुताबिक पीएमओ को साउथ ब्लॉक के पीछे भूखंड संख्या 36 और 38 पर नये प्रस्तावित कार्यालय में ले जाया जाना है।

केंद्रीय आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय द्वारा संचालित वेबसाइट पर कहा गया है, ‘‘ केंद्रीय सचिवालय, राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद सचिवालय और विदेश मंत्रालय के हैदराबाद हाउस जैसे एक सम्मेलन कक्ष की सुविधाएं पीएमओ के साथ मौजूद होंगी। ’’

उल्लेखनीय है कि विभिन्न देशों के आगंतुक शीर्ष नेताओं के साथ हैदराबाद हाउस में फिलहाल उच्च स्तरीय वार्ता की जाती है।

केंद्रीय लोक निर्माण विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि रक्षा मंत्रालय और सशस्त्र बलों के कर्मियों को केजी मार्ग तथा अफ्रीका एवेन्यू के दो नये भवनों में भेजे जाने के साथ उनके हटमेंट्स को हटाने का काम शीघ्र शुरू हो जाएगा।

भाषा

ब्रजेन्द्र सुभाष माधव

माधव