नगालैंड में हुई गोलीबारी की घटना पर तृणमूल ने केंद्रीय गृहमंत्री को सौंपा ज्ञापन

नगालैंड में हुई गोलीबारी की घटना पर तृणमूल ने केंद्रीय गृहमंत्री को सौंपा ज्ञापन

Edited By: , December 8, 2021 / 07:47 PM IST

नयी दिल्ली, आठ दिसंबर (भाषा) तृणमूल कांग्रेस ने बुधवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात कर उन्हें एक ज्ञापन सौंपा और कहा कि नगालैंड गोलीबारी घटना पर संसद में दिए गए शाह के बयान में “अफस्पा के दुरुपयोग पर चिंता व्यक्त नहीं की गई।”

पार्टी ने कहा कि उक्त कानून का इस्तेमाल नागरिकों की “हत्या” करने के लिए नहीं किया जा सकता। संसद में सोमवार को दिए गए बयान में शाह ने नगालैंड की घटना पर दुख जताया था और कहा था कि विशेष जांच दल द्वारा एक महीने के भीतर घटना की जांच पूरी की जाएगी।

गृहमंत्री ने कहा था कि सभी एजेंसियों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि उग्रवादियों के विरुद्ध कार्रवाई में इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो। शाह के बयान पर तृणमूल ने ज्ञापन में कहा कि यह “चौंकाने” वाली बात है कि मृतकों के परिजनों को मुआवजा देने के विषय पर एक शब्द नहीं कहा गया।

ज्ञापन में कहा गया, “हम मृतकों के परिजनों को मुआवजे देने का ऐलान करने की मांग करते हैं।” तृणमूल ने कहा, “आपके बयान में सशस्त्र बल विशेषाधिकार अधिनियम (अफस्पा) के खुले तौर पर दुरुपयोग पर कोई चिंता प्रकट नहीं की गई जो नगालैंड, असम, मणिपुर, अरुणाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों, कश्मीर और कुछ अन्य इलाकों में लागू है।”

ज्ञापन में कहा गया, “यह जरूरी है कि हम समस्या की जड़ों पर प्रहार करें जिसके बिना हम इस गंभीर स्थिति से नहीं उबर पाएंगे और स्थायी समाधान नहीं निकाल पाएंगे। किसी भी देश में निर्दोष नागरिकों की जान जाना शर्म की बात है।”

तृणमूल के 32 सांसदों ने इस ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये हैं और इसमें कहा गया कि “अफस्पा का इस्तेमाल हमारे नागरिकों की हत्या के लिए इस्तेमाल नहीं किया जा सकता।” ज्ञापन में कहा गया कि नगालैंड में हुई त्रासद घटना सामूहिक रूप से शर्म की बात है।

भाषा यश उमा

उमा