दो मिजो मंत्री और गृह सचिव सीमा विवाद को लेकर असम के साथ वार्ता करेंगे: शीर्ष अधिकारी

दो मिजो मंत्री और गृह सचिव सीमा विवाद को लेकर असम के साथ वार्ता करेंगे: शीर्ष अधिकारी

Edited By: , August 4, 2021 / 04:24 PM IST

आइजोल, चार अगस्त (भाषा) मिजोरम के तीन प्रतिनिधि- गृहमंत्री लालचामलियाना, भू राजस्व एवं बसावट मंत्री लालरुआत्किमा और गृह विभाग के सचिव वनलालंगईसाका- अंतर राज्य सीमा विवाद के समाधान के लिए असम के प्रतिनिधियों से बातचीत करेंगे। यह जानकारी शीर्ष अधिकारी ने बुधवार को दी।

मिजोरम के मुख्य सचिव लालनुमाविया चुआउंगो ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि दोनों राज्यों के मंत्रियों और अधिकरियों की बैठक बृहस्पतिवार को पूर्वाह्न 11 बजे यहां आइजोल क्लब में होगी। असम में मौजूद सूत्रों ने बताया कि राज्य की हिमंता बिस्वा सरमा की सरकार कैबिनेट मंत्री अतुल बोरा और अशोक सिंघल को वार्ता के लिए भेजेगी।

गौरतलब है कि दोनों राज्यों के बीच जारी सीमा विवाद ने 26 जुलाई को खूनी संघर्ष का रूप ले लिया था जिसमें असम पुलिस के छह कर्मी और एक आम नागरिक की मौत हो गई जबकि घटना में करीब 50 लोग घायल हुए।

मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरामथंगा ने ट्विटर के माध्यम से कहा कि वह दोनों राज्यों की बैठक में समाधान निकलने को लेकर आशांवित हैं।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘कल, पांच अगस्त 2021 को वरिष्ठ मंत्री के नेतृत्व में असम सरकार के प्रतिनिधि वरिष्ठ मंत्री के नेतृत्व वाले मिजोरम सरकार के प्रतिनिधिमंडल से मिलेंगे। मैं आश्वस्त हूं कि इससे सीमा विवाद के समाधान के लिए अहम कदम उठाने पर सहमति बनेगी।’’

उच्च पदस्थ सूत्र ने बताया कि केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के हस्तक्षेप के बाद दोनों पक्षों ने तनाव कम करने के लिए बैठक करने का फैसला किया। इससे पहले सरमा ने सोमवार को माइक्रोब्लॉगिंग साइट के माध्यम से घोषणा की थी कि वह शांति के लिए अपने दो कैबिनेट मंत्रियों को आइजोल भेजेंगे।

सरमा ने यह घोषणा मिजोरम के समकक्ष जोरामथंगा द्वारा सोशल मीडिया पर की गई इस घोषणा के बाद की कि उन्होंने राज्य पुलिस को पड़ोंसी राज्य के अधिकारियों के खिलाफ दर्ज मामलों को वापस लेने का निर्देश दिया है।

इसके बाद असम के मुख्यमंत्री ने भी अपने राज्य में कोलासिब के उपायुक्त लालथलंगलियाना और सब-डिविजनल पुलिस अधिकारी थेरटी हरांगचल के खिलाफ दर्ज मामले वापस लेने की घोषणा की।

इस बीच, असम सरकार द्वारा कथित तौर पर घोषित आर्थिक नाकेबंदी बुधवार को 10वें दिन में प्रवेश कर गई। दरअसल कछार जिले से मिजोरम में प्रवेश करने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 306 गत 26 जुलाई से बंद है।

भाषा धीरज शाहिद

शाहिद