उत्तराखंड में बारिश के अलर्ट के कारण श्रद्धालुओं से फिलहाल यात्रा टालने का अनुरोध

उत्तराखंड में बारिश के अलर्ट के कारण श्रद्धालुओं से फिलहाल यात्रा टालने का अनुरोध

Edited By: , October 17, 2021 / 08:49 PM IST

देहरादून, 17 अक्टूबर (भाषा) उत्तराखंड में रविवार से अगले दो—तीन दिन भारी बारिश के अलर्ट को देखते हुए पर्यटकों और श्रद्धालुओं को फिलहाल यात्रा टालने का सुझाव दिया गया है जबकि एहतियात के तौर पर सोमवार के लिए शैक्षणिक संस्थानों को बंद कर दिया गया है।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने यहां संवाददाताओं को बताया कि सभी जिलों में अलर्ट जारी कर दिया गया है और यात्रियों से अगले दो दिन तक यात्रा टालने का अनुरोध किया गया है।

दशहरा की छुटि्टयों के कारण इस समय प्रदेश में हजारों की संख्या में पर्यटक और श्रद्धालु चारधाम यात्रा तथा अन्य पर्यटक स्थलों में आए हुए हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘चारधाम में भी बडी संख्या में यात्री आए हुए हैं। उनसे भी हमने अनुरोध किया है कि एक-दो दिन भारी बारिश होने की आशंका है और इसलिए अभी यात्रा को टाल दें।’’

धामी ने कहा कि उन्होंने इस संबंध में जिलाधिकारियों तथा पुलिस अधीक्षकों को जिलों में पूरी सतर्कता बरतने तथा राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) और अन्य संबंधित विभागों के कर्मचारियों को संवेदनशील स्थानों पर हाई अलर्ट मोड पर रखने के निर्देश दिए हैं। चमोली, उत्तरकाशी और रूद्रप्रयाग जिलों के प्रशासन को अतिरिक्त सतर्कता बरतने को कहा गया है जहां इस समय चारधाम यात्रा चल रही है।

उन्होंने कहा कि कहीं भी कोई घटना होती है तो प्रतिक्रिया समय कम से कम होना चाहिए तथा जरूरत होने पर प्रभावितों को तत्काल राहत मिलनी चाहिए।

प्रदेश के ज्यादातर हिस्सों में सुबह से ही बारिश हो रही है। मौसम केंद्र ने अपने पूर्वानुमान में रविवार से अगले दो दिन तक प्रदेश के कई इलाकों में भारी से बहुत भारी बारिश, तेज हवाएं चलने और ओले पड़ने की आशंका व्यक्त करते हुए प्रशासन से सतर्कता बरतने को कहा है।

उत्तराखंड राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने इस चेतावनी के दृष्टिगत सभी स्थानीय निवासियों और यात्रियों से सतर्कता बरतने, नदी नालों से दूरी बनाने और सुरक्षित स्थानों पर रहने तथा उत्तराखंड आने की योजना बना रहे यात्रियों और यात्रा कर रहे यात्रियों से इस अवधि में यात्रा करने से बचने को कहा।

भारी बारिश के अलर्ट को देखते हुए उत्तराखंड में शैक्षणिक संस्थानों को सोमवार के लिए बंद कर दिया गया है जबकि ऊंचाई वाले इलाकों में ट्रेकिंग, पर्वतारोहण और कैंपिंग गतिविधियों पर मंगलवार तक के लिए रोक लगा दी गयी है। इसके अलावा, जिला स्तरीय खेल गतिविधियों पर भी रोक लगा दी गयी है।

दूसरी तरफ, रविवार तड़के शुरू हुई बारिश और ऊंची पहाडियों पर बर्फवारी से प्रदेश में सर्दी ने भी दस्तक दे दी है।

भाषा दीप्ति

दीप्ति वैभव

वैभव