‘जाति आधारित हिंसा करने वाली’ विहिप और बजरंग दल का ‘समरसता अभियान एक नाटक: लिलोठिया

‘जाति आधारित हिंसा करने वाली’ विहिप और बजरंग दल का ‘समरसता अभियान एक नाटक: लिलोठिया

: , January 14, 2022 / 10:25 PM IST

नयी दिल्ली, 14 जनवरी (भाषा) कांग्रेस के अनुसूचित जाति विभाग के प्रमुख राजेश लिलोठिया ने विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के ‘समरसता अभियान’ को लेकर शुक्रवार को उस पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि ‘विहिप तथा बजरंग दल जैसे संगठन जाति आधारित हिंसा करते हैं’ और इनका इस तरह का अभियान चलाना सिर्फ एक नाटक है।

लिलोठिया ने एक बयान जारी कर दावा किया, ‘‘विश्व हिंदू परिषद और उसकी ‘उग्रवादी’ युवा शाखा बजरंग दल देश में अनुसूचित जातियों और अनुसूचित जनजातियों के खिलाफ जाति आधारित हिंसा करते आये हैं। यह बेहद शर्मनाक है कि दलितों और आदिवासियों के खिलाफ किए गए गंभीर अपराधों के लिए इनके कई सक्रिय सदस्यों के सलाखों के पीछे होने के बावजूद इनकी ओर से यह अभियान चलाने की हिम्मत दिखाई जा रही है।’’

उन्होंने कहा कि यह अभियान एक धोखे और जनता को गुमराह करने के अलावा और कुछ भी नहीं है।

कांग्रेस नेता का यह बयान विहिप के ‘समरसता अभियान को लेकर आया है। हिंदू समाज में जातीय विभाजन को पाटने के लिए विहिप ने शुक्रवार से 10 दिवसीय राष्ट्रव्यापी अभियान शुरू किया है। इसके तहत विहिप लोगों को संदेश देगी कि ‘‘सभी हिंदू एक हैं।’’

विहिप 23 जनवरी तक चलने वाले अपने ‘समरसता अभियान’’ के दौरान ‘सह भोज’ समेत विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन करेगी।

लिलोठिया ने दलित समुदाय के लोगों के खिलाफ हिंसा की कुछ घटनाओं का उल्लेख करते हुए कहा, ‘‘ विहिप ओर बजरंग दल द्वारा कई ऐसे जाति-आधारित अत्याचार किए गए हैं, जबकि हाल के कुछ वर्षों में उनके द्वारा किए गए सांप्रदायिक अत्याचारों की कोई सीमा ही नहीं है। यह शर्मनाक है कि विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल दोनों ही आगामी विधानसभा चुनावों से ठीक पहले समाज में सभी जातियों के बीच एकता स्थापित करने का नाटक कर रहे हैं।’’

भाषा हक हक पवनेश

पवनेश

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)