कांग्रेस की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ को सुगम बनाने में अहम भूमिका निभा रहे स्वयंसेवी |

कांग्रेस की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ को सुगम बनाने में अहम भूमिका निभा रहे स्वयंसेवी

कांग्रेस की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ को सुगम बनाने में अहम भूमिका निभा रहे स्वयंसेवी

: , January 25, 2023 / 08:27 PM IST

(तारिक सोफी)

जम्मू, 25 जनवरी (भाषा) कांग्रेस की ‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ के दौरान ‘वॉकी-टॉकी’ से लैस दर्जनों स्वयंसेवी अपने नेता राहुल गांधी के आसपास या उनसे आगे छोटे समूहों में चलते हैं और भीड़ को नियंत्रित करते हैं ताकि यात्रा को सुगम बनाया जा सके।

इनमें से कई स्वयंसेवी पहली बार हिमपात और शून्य से नीचे तापमान का सामना कर रहे हैं और पिछले साल सितंबर में तमिलनाडु के कन्याकुमारी से शुरू हुई पदयात्रा के अंतिम पड़ाव कश्मीर तक पहुंचने को लेकर उत्साहित हैं।

यात्रा के विश्राम के दौरान राहुल गांधी के साथ नहीं चलने पर, ये तेजतर्रार स्वयंसेवक शिविर स्थलों पर व्यवस्थाओं की देखरेख करने और अन्य चीजों के प्रबंधन के अलावा होर्डिंग लगाने में व्यस्त रहते हैं।

125 स्वयंसेवकों के एक समूह का नेतृत्व कर रहे छत्तीसगढ़ के सबसे कम उम्र के विधायक देवेंद्र यादव ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘सात सितंबर को यात्रा शुरू होने के बाद से हम लगातार चल रहे हैं। कई स्वयंसेवकों ने इस ऐतिहासिक मार्च का हिस्सा बने रहना पसंद किया और यात्रा के साथ कश्मीर में अपने अंतिम गंतव्य की ओर बढ़ रहे हैं।’’

भिलाई के पूर्व महापौर 33 वर्षीय देवेंद्र यादव ने कहा कि सभी स्वयंसेवक खुश हैं कि यात्रा भाईचारा फैलाने के अपने लक्ष्य में सफल हो रही है।

उन्होंने कहा, ‘‘हमारा देश विविधता से भरा है और समुदायों के बीच कोई भी टकराव हमारी एकता के लिए बहुत हानिकारक है। भारत जोड़ो यात्रा का एकमात्र उद्देश्य नफरत के खिलाफ लोगों को एकजुट करना और प्यार और भाईचारे का संदेश फैलाना है।’’

यादव ने कहा कि लाखों लोगों के ‘भारत जोड़ो यात्रा’ में शामिल होने के चलते भीड़ को संभालना स्वयंसेवकों के लिए एक ‘‘बड़ी चुनौती’’ साबित हुई है।

भारतीय युवा कांग्रेस के मीडिया विभाग के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल राव ने इस ‘‘महत्वपूर्ण और यादगार’’ यात्रा में शामिल होने का मौका मिलने के लिए खुद को भाग्यशाली करार दिया।

हरियाणा से ताल्लुक रखने वाले राव पहले दिन से यात्रा का हिस्सा हैं और उन शिविरों के प्रबंधन के लिए जिम्मेदार हैं जहां यात्री रात्रि विश्राम के लिए ठहरते हैं।

राजस्थान के जोधपुर के रहन रामदयाल ने कहा कि खराब मौसम स्वयंसेवकों के इरादों को नहीं डिगा सका है और वे कश्मीर में प्रवेश करने के लिए ‘‘बहुत उत्साहित’’ हैं।

स्वयंसेवकों में शामिल हरियाणा के पंडित दिनेश शर्मा नंगे पैर चल रहे हैं।

शर्मा ने कहा, ‘‘मेरा परिवार पीढ़ियों से कांग्रेस समर्थक रहा है और मैं भारत जोड़ो यात्रा का हिस्सा बनकर खुद को भाग्यशाली मानता हूं। मैं पिछले 12 सालों से नंगे पैर चल रहा हूं।’’

राष्ट्रीय ध्वज थामे शर्मा ने कहा, ‘‘मैंने राहुल गांधी के देश के प्रधानमंत्री बनने तक जूते-चप्पल नहीं पहनने का संकल्प लिया है।’’

भाषा

शफीक माधव

माधव

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)