‘आप’ सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे भाजपा कार्यकर्ताओं पर पानी की बौछार; हिरासत मे लिए गए कुछ नेता |

‘आप’ सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे भाजपा कार्यकर्ताओं पर पानी की बौछार; हिरासत मे लिए गए कुछ नेता

‘आप’ सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे भाजपा कार्यकर्ताओं पर पानी की बौछार; हिरासत मे लिए गए कुछ नेता

: , September 22, 2022 / 08:57 PM IST

चंडीगढ़, 22 सितंबर (भाषा) पंजाब की आम आदमी पार्टी (आप) नीत सरकार और राज्यपाल के बीच बढ़ती दरार के बीच पुलिस ने मुख्यमंत्री भगवंत मान के सरकारी आवास तक मार्च निकालने का प्रयरास कर रहे भाजपा कार्यकर्ताओं को अवरोधक लगाकर और उन पर पानी की बौछार करके रोक दिया। पुलिस ने भाजपा नेताओं को कुछ देर के लिए हिरासत में भी लिया।

भाजपा की पंजाब इकाई ने छह महीने पुरानी ‘आप’ सरकार पर सभी मोर्चों पर विफल रहने का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री के सरकारी आवास का घेराव करने की घोषणा की थी।

भाजपा की पंजाब इकाई के अध्यक्ष अश्विनी शर्मा, जीवन गुप्ता और सुभाष शर्मा समेत पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेता विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए। गौरतलब है कि राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित ने विश्वास प्रस्ताव लाने के लिए आप सरकार द्वारा विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने का अनुरोध खारिज कर दिया।

पुलिस ने चडीगढ़ सेक्टर-37 स्थित राज्य भाजपा कार्यालय के पास अवरोधक लगाए थे, ताकि प्रदर्शनकारियों का मुख्यमंत्री आवास की ओर जाने से रोका जा सके।

भाजपा कार्यकर्ताओं ने जब अवरोधक लांघकर जबरन आगे बढ़ने का प्रयास किया, तो पुलिस ने पानी की बौछार का इस्तेमाल किया। बाद में पुलिस ने अश्विनी शर्मा सहित भाजपा के कई नेताओं को कुछ देर के लिए हिरासत में लिया।

भाजपा नेताओं ने आप पर निशाना साधते हुए कहा कि पार्टी ‘निराधार आरोप’ लगा रही है कि भाजपा ‘ऑपरेशन लोटस’ के तहत सत्तारूढ़ पार्टी के विधायकों को अपने खेमे में लाने का प्रयास कर रही है।

उन्होंने कहा, ‘‘प्रदर्शन करना हमारा लोकतांत्रिक अधिकार है और पानी की बौछार भाजपा को जनता के हित के मुद्दे उठाने से नहीं रोक सकती हैं।’’

भाजपा नेताओं ने 22 सितंबर को ‘‘सिर्फ विश्वास प्रस्ताव लाने के लक्ष्य से’’ विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने की अनुमति नहीं देने का स्वागत किया।

अश्विनी शर्मा ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि भाजपा राज्य में सभी मोर्चों पर विफल होने वाली ‘आप’ सरकार का पर्दाफाश करेगी।

उन्होंने कहा, “सरकार महिलाओं के लिए प्रति माह 1,000 रुपये जैसे अपने चुनावी वादों को पूरा करने में विफल रही। वह सार्वजनिक मुद्दों से निपटने में भी नाकाम रही।”

शर्मा ने आरोप लगाया कि मान सरकार केवल अरविंद केजरीवाल को “खुश” करने की कोशिश कर रही है और पंजाब में मादक पदार्थ, भ्रष्टाचार व बिगड़ती कानून व्यवस्था जैसे ज्वलंत मुद्दों को हल नहीं कर रही।

इससे पहले शर्मा ने आरोप लगाया था कि आप सरकार लोगों की आकांक्षाओं पर खरा उतरने में नाकाम रही है। उन्होंने दावा किया कि अपनी समस्याओं के समाधान के लिए ‘आप’ को वोट देकर लोगों को अब पछतावा हो रहा है, क्योंकि सरकार अपनी जिम्मेदारियों से भाग रही है।

उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार की जवाबदेही पंजाब की जनता के प्रति है, लेकिन वह दिल्ली में बैठे अपने राजनीतिक आकाओं के ‘रिमोट कंट्रोल’ से चल रही है।’’

पुरोहित के फैसले के संदर्भ में शर्मा ने कहा कि जब सरकार नियमों का उल्लंघन करती है और अपने कामकाज से लोकतंत्र को खतरे मे डालती है तो राज्यपाल उसपर नजर रखते हैं और ऐसा होने से रोकते हैं।

‘ऑपरेशन लोटस’ के आरोपों को लेकर आप पर पलटवार करते हुए शर्मा ने कहा कि ऐसा पहली बार नहीं है जब वे लोग ऐसे आधारहीन आरोप लगा रहे हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘यह वह पार्टी है जो आरोप लगाती है और फिर भाग खड़ी होती है। हमने देखा है कि उन्होंने नितिन गडकरी, दिवंगत अरुण जेटली और अन्य नेताओं से कैसे माफी मांगी।’’

भाजपा नेता ने कहा, ‘‘हम उनका पर्दाफाश करेंगे। केजरीवाल की नौटंकी नहीं चलेगी।’’

प्रदर्शन में केन्द्रीय मंत्री सोमप्रकाश समेत भाजपा के अन्य नेताओं ने भाग लिया जिनमें मनोरंजन कालिया, सुनील जाखड़, राणा गुरमीत सिंह सोढ़ी और बलबीर सिंह सिद्धू शामिल हैं।

भाषा जोहेब अविनाश अर्पणा संतोष

संतोष

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)