बीएसएफ की निशानेबाजी स्पर्धा में 100 महिला कर्मियों समेत 800 जांबाजों के बीच टक्कर |

बीएसएफ की निशानेबाजी स्पर्धा में 100 महिला कर्मियों समेत 800 जांबाजों के बीच टक्कर

बीएसएफ की निशानेबाजी स्पर्धा में 100 महिला कर्मियों समेत 800 जांबाजों के बीच टक्कर

: , December 1, 2022 / 05:19 PM IST

इंदौर (मध्यप्रदेश), एक दिसंबर (भाषा) सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की 50वीं अंतरसीमांत प्लाटून हथियार निशानेबाजी स्पर्धा इंदौर में आठ दिसंबर से शुरू होकर 13 दिसंबर तक चलेगी।

खास बात यह है कि इस स्पर्धा में उन्हीं हथियारों का इस्तेमाल किया जाता है जिनकी मदद से बीएसएफ के जांबाज जवान वास्तविक मोर्चों पर दुश्मन सैनिकों और आतंकवादियों से निपटते हैं।

बीएसएफ के एक अधिकारी ने बल के 58वें स्थापना दिवस के जश्न के बीच बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि बीएसएफ का इंदौर स्थित केंद्रीय आयुध और युद्ध कौशल विद्यालय (सीएसडब्ल्यूटी) छह दिवसीय निशानेबाजी स्पर्धा का आयोजन कर रहा है।

अधिकारी ने बताया कि कुल 11 वर्गों में आयोजित स्पर्धा में पिस्तौल, इंसास राइफल, 51 एमएम मोर्टार और लाइट मशीन गन (एलएमजी) जैसे हथियारों का इस्तेमाल किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि स्पर्धा में बल की 100 महिला कर्मियों समेत लगभग 800 जांबाजों के बीच 126 पदकों, तीन ट्रॉफियों और 10 कपों के लिए टक्कर होगी। स्पर्धा में बीएसएफ के 11 सीमांतों के कर्मी हिस्सा लेते हैं।

अधिकारी ने बताया कि बीएसएफ की वर्ष 2019 में आयोजित 49वीं अंतरसीमांत प्लाटून हथियार निशानेबाजी स्पर्धा में राजस्थान सीमांत ने अव्वल रहकर ‘ओवरऑल चैंपियन’ के खिताब पर कब्जा जमाया था।

उन्होंने बताया कि कोविड-19 के प्रकोप के कारण वर्ष 2020 और 2021 में यह स्पर्धा आयोजित नहीं हो सकी थी।

भाषा हर्ष

संतोष

संतोष

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)