मप्र : कर्ज से दबे मैकेनिक ने पूरे परिवार ने साथ खाया जहर, दो की मौत, तीन गंभीर

मप्र : कर्ज से दबे मैकेनिक ने पूरे परिवार ने साथ खाया जहर, दो की मौत, तीन गंभीर

Edited By: , November 26, 2021 / 10:34 PM IST

भोपाल, 26 नवंबर (भाषा) मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कर्ज से परेशान होकर 47 वर्षीय एक मैकेनिक ने अपने परिवार के सभी पांच सदस्यों के साथ जहर खा लिया, जिससे उसकी मां एवं एक बेटी सहित दो लोगों की मौत हो गई और तीन लोगों की हालत गंभीर है, जिनका इलाज अस्पताल में चल रहा है।

खास बात यह है कि जहर खाने से पहले इस मैकेनिक ने इस जहर को अपने एक पालतू कुत्ते को खिलाया, ताकि यह पता चल सके कि इस जहर को खाने से वे मरेंगे या नहीं।

इसके अलावा, इस परिवार ने कोल्ड ड्रिंक्स के साथ खुद जहर खाने की घटना को अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को व्हाट्सऐप चैट में लाइव भी दिखाया और जहर खाने से पहले अपने घर की दीवार पर चारों ओर लिखा, ‘‘हम असहाय हैं, लेकिन कायर नहीं। हमें न्याय चाहिए।’’ पुलिस ने इसकी पुष्टि की है।

यह घटना शहर के पिपलानी पुलिस थाना क्षेत्र के आनंद नगर में बृहस्पतिवार-शुक्रवार रात को हुई।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (जोन 2 भोपाल) राजेश सिंह भदौरिया ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया,‘‘47 वर्षीय मैकेनिक संजीव जोशी के घर में एक सुसाइड नोट मिला है। इसके आधार पर हम इस परिवार को आत्महत्या के लिए उकसाने के लिए आधा दर्जन लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की प्रक्रिया में हैं।’’

उन्होंने बताया कि जोशी की मां नंदनी (67) और छोटी बेटी पूर्णी (16) की अस्पताल में इलाज के दौरान शुक्रवार दोपहर को मौत हो गई।

पिपलानी के थाना प्रभारी अजय नायर ने बताया, ‘‘संजीव, उसकी पत्नी अर्चना (45) और उनकी बड़ी बेटी ग्रिश्मा (19) की हालत गंभीर है, लेकिन अब वे खतरे से बाहर हैं।’’

उन्होंने कहा कि बृहस्पतिवार रात को 11 बजे के आसपास जोशी के परिचितों ने हमें जानकारी दी थी कि ये लोग आत्महत्या कर रहे हैं और इसे व्हाट्सएप पर लाइव उन्हें दिखा भी रहे हैं।

नायर ने कहा, ‘‘हमने इस पर उसी वक्त कार्रवाई की और तुरंत जोशी के घर आनंद नगर पहुंचे और एक अस्पताल में इलाज के लिए उन सभी को ले गए।’’

उन्होंने इस बात की पुष्टि की कि जोशी ने पहले अपने पालतू कुत्ते को जहर दिया था जिससे उनकी मौत हो गई।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने बताया कि संजीव ने सात से आठ लोगों से कर्ज लिया है और इसे वसूलने के लिए एक महिला सहित कुछ अन्य लोग उस पर दबाव बना रहे थे। इसके अलावा, इन लोगों ने संजीव के साथ गालीगलौज भी किया था।

उन्होंने कहा कि इस परिवार ने हमसे यह शिकायत नहीं की है कि जिनसे उन्होंने कर्जा लिया है, वे उन्हें परेशान कर रहे हैं या उनके साथ बुरा बर्ताव कर रहे हैं। पुलिस अधिकारी के अनुसार हालांकि, एक महीने पहले हमारे पास उनसे शिकायत आई थी, जिसमें उन्होंने कहा था कि जिनसे हमने कर्जा लिया है उन्हें इस कर्ज को वापस लौटाने के लिए हमें 45 दिन का समय दिला दो।

उन्होंने कहा कि इसके बाद एक पुलिस ड्यूटी अधिकारी को इसके लिए भेजा गया था और मामला शांत करा दिया गया था।

भाषा रावत रावत राजकुमार

राजकुमार