अजित पवार ने अधिकारियों को पद का दुरुपयोग नहीं करने की चेतावनी दी |

अजित पवार ने अधिकारियों को पद का दुरुपयोग नहीं करने की चेतावनी दी

अजित पवार ने अधिकारियों को पद का दुरुपयोग नहीं करने की चेतावनी दी

: , December 25, 2021 / 03:52 PM IST

पुणे (महाराष्ट्र), 25 दिसंबर (भाषा) महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने शनिवार को अधिकारियों को अपने पद का दुरुपयोग नहीं करने की चेतावनी दी और उनसे यह सुनिश्चित करने को कहा कि शैक्षिक संस्थानों का कामकाज उचित तरीके से हो। वह शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) में कथित अनियमितताओं के संदर्भ में बोल रहे थे।

पवार यहां महाराष्ट्र स्टेट फैकल्टी डेवलपमेंट एकेडमी (एमएसएफडीए) के उद्घाटन के मौके पर बोल रहे थे।

उपमुख्यमंत्री ने टीईटी में कथित अनियमितताओं के संबंध में हाल में महाराष्ट्र राज्य परीक्षा परिषद (एमएसईसी) के आयुक्त तुकाराम सुपे की गिरफ्तारी का जिक्र किया और अधिकारियों को अपने पदों का दुरुपयोग न करने की चेतावनी दी।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार संस्थानों तथा संगठनों को बुनियादी ढांचा मुहैया कराने में मदद करेगी, लेकिन यह अधिकारियों की जिम्मेदारी है कि वह इनका सुचारू तरीके से कामकाज सुनिश्चित करें तथा इनमें सुधार लाएं।

पवार ने कहा, ‘‘मैंने राज्य विधानसभा में भी कहा कि अनियमितताओं में शामिल लोगों को कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा। किसी को भी छात्रों/उम्मीदवारों के भविष्य से खिलवाड़ करने का अधिकार नहीं है।’’

उन्होंने कहा कि एमएसएफडीए राज्य में शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाएगी। उन्होंने राज्य के शिक्षा मंत्री उदय सामंत से संस्थान का दौरा करने तथा नियमित अंतराल में इसे आधुनिक बनाने का अनुरोध किया।

इस मौके पर महाराष्ट्र के मंत्री आदित्य ठाकरे ने सवाल पूछने की महत्ता पर जोर दिया और कहा कि देश में सवाल पूछना अपराध हो गया है। उन्होंने कहा, ‘‘दूसरे देशों में स्कूलों तथा कॉलेजों में शोध किया जाता है जबकि भारत में यह शोध संस्थानों में होता है। नयी शिक्षा प्रणाली में पूछताछ की भावना पर जोर देने की जरूरत है, जिससे छात्र सवाल पूछेंगे। हमारे देश में सवाल पूछना अपराध हो गया है, चाहे वह कक्षा में हो या कहीं और।’’

भाषा गोला दिलीप

दिलीप

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

#HarGharTiranga