‘भारत जोड़ो’ यात्रा ‘असली’ राहुल को सामने लाई है: जयराम रमेश |

‘भारत जोड़ो’ यात्रा ‘असली’ राहुल को सामने लाई है: जयराम रमेश

‘भारत जोड़ो’ यात्रा ‘असली’ राहुल को सामने लाई है: जयराम रमेश

: , November 29, 2022 / 08:22 PM IST

वाशिम (महाराष्ट्र), 15 नवंबर (भाषा) कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने मंगलवार को कहा कि भारत जोड़ो यात्रा ने ‘असली’ राहुल गांधी को सामने ला दिया है और कांग्रेस सांसद की छवि को पूरी तरह से बदल दिया है।

महाराष्ट्र के वाशिम में एक संवाददाता सम्मेलन में पूछे गए एक सवाल के जवाब में रमेश ने कहा कि गांधी के अगुवाई में पूरे देश में की जा रही यात्रा का किसी भी राज्य के चुनाव से कोई संबंध नहीं है और अगर इसके प्रभाव का आकलन करना है तो यह 2024 के लोकसभा चुनाव में ही किया जा सकता है। यात्रा 69वें दिन वाशिम पहुंची है।

कांग्रेस के महासचिव, संचार प्रभारी रमेश ने कहा कि गांधी ‘डेटॉल या फेविकोल ब्रांड नहीं हैं’ कि उन्हें फिर से ‘रीब्रांडेड’ करना पड़े और केरल से लोकसभा सदस्य के अहम मुद्दों पर अपने विचार हैं।

उन्होंने कहा, “ भारत जोड़ो यात्रा से पहले भाजपा ने उनकी खास छवि बना दी थी, खासकर सोशल मीडिया पर। इसने कभी भी सही राहुल गांधी को चित्रित नहीं किया। भारत जोड़ो यात्रा नए राहुल गांधी को नहीं, असली राहुल गांधी को दिखा रही है।”

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा, “ भारत जोड़ो यात्रा से उनकी छवि में पूरी तरह से बदलाव आया है। आज मीडिया या सोशल मीडिया में राहुल गांधी वैसे नहीं हैं जो 70 दिन पहले थे।’’

उन्होंने कहा कि 3,570 किलोमीटर लंबी यात्रा का फायदा यह है कि वह (राहुल) बिना किसी बिचौलिए के, लोगों के साथ सीधे संपर्क में हैं। ‘‘इसका नतीजा यह है कि असली राहुल गांधी सबके सामने हैं।’’

कांग्रेस की ‘‘भारत जोड़ो’’ यात्रा सात सितंबर को तमिलनाडु के कन्याकुमारी से शुरू हुई थी और अब तक छह राज्यों के 28 जिलों से गुजर चुकी है। इसने सात नवंबर को महाराष्ट्र के देगलुर में प्रवेश किया था और अब तक राज्य के नांदेड़ और हिंगोली जिलों से गुजर चुकी है।

यह यात्रा करीब 150 दिनों में 12 राज्यों में 3,570 किलोमीटर की दूरी तय करने के बाद जनवरी में जम्मू कश्मीर में समाप्त होगी।

रमेश ने कहा कि यात्रा का चुनाव से कोई लेना-देना नहीं है और यह एक अलग पहल है। उन्होंने कहा, “यह एक राजनीतिक दल की यात्रा है और हम समाज में आर्थिक असमानता, ध्रुवीकरण जैसी राजनीतिक चुनौतियों से लड़ रहे हैं। यात्रा में शामिल नब्बे प्रतिशत लोग राजनीतिक हैं।”

कांग्रेस नेता ने कहा कि 70 दिनों में एक चीज़ स्पष्ट रूप से दिखाई दी है, “ हम किस तरह से एकजुट हुए हैं और किस तरह से हमने समय पर यात्रा शुरू की है। एक भारतीय मानक समय होता है और एक कांग्रेस मानक समय है।”

उन्होंने कहा कि यात्रा का प्रभाव पार्टी पर निर्भर करेगा न कि गांधी पर। रमेश ने कहा कि महाराष्ट्र में अब तक जहां जहां यात्रा पहुंची है वहां सेवा दल के कार्यकर्ता घर घर जाकर पर्चे बांट कर पार्टी का संदेश दे रहे हैं।

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा, “ यह घर घर जाकर प्रचार करना है। कई सालों से ऐसा नहीं हुआ है जबकि यह कांग्रेस की खासियत हुआ करती थी। लेकिन हम इसे भूल गए क्योंकि हम कई सालों से सत्ता में थे। बहरहाल, आज एक नई शुरुआत हुई है।’

भाषा नोमान मनीषा

मनीषा

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)